DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अल्पसंख्यक नाम का गलत इस्तेमाल ठीक नहीं: नकवी

अल्पसंख्यक नाम का गलत इस्तेमाल ठीक नहीं: नकवी

बॉलीवुड कलाकार इमरान हाशमी प्रकरण की ओर इशारा करते हुए भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि कुछ लोग एवं संगठन अल्पसंख्यक बनकर समाज में बिखराव और ब्लैकमेलिंग कर रहे हैं।

नकवी ने इमरान हाशमी का नाम लिए बिना कहा कि एक फिल्म अभिनेता ने जिस प्रकार से अपने निजी और व्यक्तिगत स्वार्थ को अल्पसंख्यक समाज के साथ अन्याय के रूप में दिखाने की कोशिश की वह समाज में अल्पसंख्यकों के प्रति अविश्वास को और गहरा करेगा न कि  अल्पसंख्यकों के प्रति सहानुभूति।

उन्होंने कहा कि आज तथाकथित इस्लामिक आतंकवाद की आग ने पूरी दुनिया के मुस्लिम समाज को अविश्वास और असुरक्षा के घेरे में खड़ा कर रखा है ऐसे हालात में भी भारत सांप्रदायिक भाईचारे और दोस्ती की मजबूत मिसाल बना हुआ है। दुनिया के विभिन्न देशों में मुसलमानों के साथ हो रहे भेदभाव का प्रभाव भारत और यहां के लोगों पर नहीं पड़ा।

उन्होंने कहा कि अलपसंख्यक बनकर धर्म की आड़ में निजी स्वार्थ के लिए ब्लैक मेल करने वाले लोग भारत के भाईचारे के माहौल को नुकसान पहुंचा रहे हैं। ऐसे लोगों का साथ धर्मनिरपेक्षता के खोखले सिद्धांतों के आधार पर नहीं दिया जाना चाहिए। नकवी ने कहा कि भारत के लोगों ने प्रतिभा और परिश्रम को कभी भी धर्म के चश्मे से नहीं देखा और यही कारण है कि अल्पसंख्यक समुदाय के तमाम लोग विभिन्न क्षेत्रों में शिखर पर रहे और लोगों ने उन्हें सिर आंखों पर बैठाया।

उन्होंने कहा कि दुनिया में कथित इस्लामिक आतंकवाद के कारण मुसलमानों के प्रति अविश्वास के चलते बेगुनाह लोगों के प्रति भी हो रही प्रतिक्रिया को फिल्मी स्टाइल अल्पसंख्यक पीड़ित और गहरा कर रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अल्पसंख्यक नाम का गलत इस्तेमाल ठीक नहीं: नकवी