DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पंचांग

सूर्य : कर्क राशि में, चंद्रमा : वृश्चिक राशि में, बुध : ¨सह राशि में, शुक्र : मिथुन राशि में, मंगल : वृष राशि में, बृहस्पति : मकर (वक्री) राशि में, शनि : ¨सह राशि में, राहु : मकर राशि में, केतु : कर्क राशि में।
1 अगस्त, शनिवार, 10 श्रावण (सौर) शक 1931, श्रवण मास 17 प्रविष्टे 2066, 9 शाबान सन हिजरी 1430, Þावण शुक्ल एकादशी रात्रि 8 बजकर 27 मिनट तक उपरान्त द्वादशी, ज्येष्ठा नक्षत्र रात्रि 1 बजकर 30 मिनट तक तदनन्तर मूल नक्षत्र, इन्द्र योग रात्रि 3 बजकर 18 मिनट तक पश्चात वधृति योग, वणिज करण, चन्द्रमा रात्रि 1 बजकर 30 मिनट तक वृश्चिक राशि में उपरान्त धनु राशि में।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पंचाग