DA Image
5 अप्रैल, 2020|6:24|IST

अगली स्टोरी

दो टूक

बहनों की रक्षा के वचन का दिन मनाने जा रहे देश को पिछले दिनों बल्लभगढ़ की एक खबर ने चौंका दिया था। वहां के एक ब्लॉक में लिंग अनुपात पूरे देश में सबसे कम पाया गया। प्रति एक हजार लड़कों पर सिर्फ 370 लड़कियां! याद रहे गुड़गांव के पटौदी इलाके में कुछ महीनों पहले एक साथ कई कन्या भ्रूण मिले थे।

अब फरीदाबाद में प्रसव पूर्व भ्रूण परीक्षण कानून के तहत अल्ट्रासाउंड क्लिनिकों पर छापे मारे जा रहे हैं। लेकिन चिंताएं कायम हैं। बेटियों से डरने वाले हमारे समाज में क्या वाकई कानून असरदार है? रक्षाबंधन अच्छा है लेकिन बहनें दुनिया में आ ही नहीं पाएंगी तो रक्षा किसकी करेंगे, जरा सोचिए।