अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ऊहा-पोह से बचें

ज्यादातर लोग शेयर बाजार में होने-वाले उतार-चढ़ाव की वजह से निवेश करने से कतराते हैं। वहीं कुछ लोग शेयर बाजार में शॉर्ट टर्म में ही निवेश करना पसंद करते हैं, तो कुछ लोगों की निवेश से पहले सिर्फ एक ही चिंता होती है कि उनके द्वारा किए गए निवेश का मूलधन सुरक्षित रहे। ऐसे में बाजार की अस्थिरता से बचने के लिए कुछ बातों को समझना काफी जरूरी है।

- बाजर में होने वाले उतार-चढ़ाव से बचने के लिए आप इक्तिटी फंड के स्थान पर बैलेंस फंड में निवेश करें। बैलेंस फंड में डेट और इक्तिटी का अनुपात बेहतर होता है। इससे आप बाजार की अस्थिरता से अप्रभावित रहते हैं।

- यह फंड मुख्यत: इक्तिटी पर केंद्रित नहीं होते। आप चाहें तो इसके विकल्प के तौर पर मंथली इनकम प्लान का चुनाव कर सकते हैं। ये प्लान बैलेंस फंड की तुलना में कम जोखिम वाले होते हैं।

- सिस्टेमेटिक इंवेस्टमेंट प्लान (एसआईपी) बाजार की अस्थिरता से बचने का बेहतर उपाय है। बाजार में माइक्रोएसआईपी भी एक अच्छे विकल्प के रूप में सामने आया है।

- अपने पोर्टफोलियो को डायवर्सिफाई करें। कहने का आशय ये है कि आप किसी एक ही फंड पर पूरी तरह फोकस न करें। पिछले दिनों देखने में आया था कि लोगों ने रियलटी और इंफ्रास्ट्रक्चर सेक्टरों की जमकर खरीदारी की थी, लेकिन बाद में इन स्टॉक के हालात से आप वाकिफ ही हैं। बाजार की अस्थिरता को मात देने के लिए बेहतरी इसी में है कि आप विभिन्न सेक्टरों के स्टॉक में निवेश करें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ऊहा-पोह से बचें