अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मंत्रीजी का आदमी

परिवर्तन संसार का नियम है। वे जो कल तक एक अदद महिला के स्थायी ‘आदमी’ थे, आज मात्र वहीं तक सीमित नहीं रहे। बल्कि एक मंत्री के भी आदमी बन गए। यह परिवर्तन उनके जीवन में अकस्मात् हुआ। उन्होंने एक प्रत्याशी के लिए गंभीर प्रयास किया। प्रत्याशी चुनाव जीत गया और फिर मंत्री भी बन गया। चुनाव जीतना एक ‘भाग्यप्रधान’ घटना है। जबकि मंत्री बनना, यह भाग्य की पराकाष्ठा।
मंत्री का आदमी बनते ही उनके शरीर में कुछ भौतिक, रासायनिक परिवर्तन होने लगे। पीले निस्तेज चेहरे पर गुलाबी रंग आ गया, मंत्री की तरह ही, लेकिन उनसे ‘छोटा’ आभामंडल उनके चेहरे के इर्द-गिर्द छा गया। उनके व्यवहार से उनके छोटे-मोटे मंत्री का आभास होने लगा। शक होने लगा कि कहीं ये ‘मंत्रीजी’ का क्लोन तो नहीं।

अब मंत्री का आदमी तो मंत्री से ‘बड़ा’ मंत्री होता है। मंत्री जी तक सभी की पहुंच नहीं रहती अत: ‘सब-टेनेन्ट’ की तरह उनके  भी चमचे पैदा हो गए। उनके इर्द-गिर्द अनेक उपमाऐं उपग्रह की भांति चक्कर लगाने लगी। मंत्री के आदमी का ‘खास’ आदमी या आदमी का बिल्कुल खासमखास। चुनाव जीतने के पहले जितनी भीड़ स्वयं मंत्रीजी के इर्द-गिर्द नहीं थी, उससे चार गुनी अकेला मंत्री का आदमी लेकर चलने लगा। वो मंत्रीजी की आदतों पर शोध कर रहा था तो उस पर भी अनेक शोधार्थी जुट गए। ‘भैयाजी कौन सा पान खाते हैं’, ‘कौन सी सिगरेट से उनका मूड़ ठीक रहता है। सब्जियों में कौन सी पसंद है। जब भैयाजी अधिक पी लेते हैं तो कैसी बातें करते है’। मंत्रीजी, मंत्रीजी का संबोधन पाते रहे, जबकि मंत्रीजी का आदमी भैयाजी बन गया।

वो मोहल्ले का अघोषित सरपंच बन गया। सभी अवसरों पर उसकी उपस्थिति अनिवार्य हो गई। कट चाय के लिए तरसने वाला यह जीव अब ‘मय’ के सागर में स्नान करने लगा। चपरासियों की दुत्कार खाने वाला इस आदमी के पीछे अब तमाम बड़े-बड़े साहब हैं। अब साहब, जब बड़े-बड़े साहब इर्द-गिर्द हैं, तो अपनी तो बिसात ही क्या है। फिर भी आप की कृपा से यह ‘बंदा’ मंत्री के आदमी के खास आदमी का वरिष्ठ उप-सलाहकार हो ही गया है। मेरी बात से आप प्रोमोशन की सोच रहे होंगे। लेकिन अपनी इच्छा ऐसी नहीं है, अपन सिर्फ इतना ही चाहते हैं कि छोटे-मोटे काम हो जाएं। थोड़ा सा नाम जुड़ा रहे। कभी-कभी थोड़ी सी चवन्नी चला सकें। और क्या बस ईश्वर मंत्रीजी के आदमी उर्फ भैयाजी की चमचागिरी की पारी को लंबी उम्र प्रदान करें। इसी में मेरी भलाई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मंत्रीजी का आदमी