DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कीमैन की सतर्कता से टला हादसा

भारत-नेपाल सीमावर्ती क्षेत्र में नेपालगंज-नानपारा रेल प्रखण्ड पर रेल की पटरी उखाड़ने की कोशिश की गई। कीमैन की सतर्कता के चलते बड़ा हादसा टल गया। लगातार तीन दिन पटरी उखाड़ने की कोशिश के बाद रेल प्रशासन हरकत में आया, रेलवे की ओर से  अज्ञात लोगों के खिलाफ अभियोग दर्ज कराया गया है। लोगों को इस बात की भी आशंका है कि नेपाल सीमा पर होने वाली यह हरकत किसी आतंकी संगठन की तो नहीं है। फिलहाल पुलिस ने घटना की जाँच शुरू कर दी है।

नेपाल सीमावर्ती क्षेत्र में नानपारा नेपालगंज रोड रेल प्रखण्ड पर ट्रेन को दुर्घटनाग्रस्त करने की नीयत से लगातार तीन दिन रेल पटरी उखाड़ने की कोशिश की गई। नानपारा-बाबागंज रेलवे स्टेशन के बीच नानपारा से नौ किलोमीटर पर स्थित 15वें जोड़ पर रेलवे लाइन की दो प्लेटे, पाँच बोल्ट 27 जुलाई की रात को निकाले गए। 14वें किलोमीटर पर 14 बोल्ट 28 जुलाई की रात व 15-16 किलोमीटर के बीच दो प्लेट, पाँच बोल्ट व आठ नट 29 जुलाई को दिन में निकालने के साथ ही चाभी भीखोल ली गई।

रेल विभाग के तीन गैंगमैनों की ओर से लगातार गश्ती की जा रही है। पहला गैंगमैन नानपारा से अगैय्या के बीच 13 किलोमीटर तक, दूसरा अगैय्या से बाबागंज के बीच व तीसरा बाबागंज से नेपालगंज रोड पर गश्त कर रहा है। ग्राम सोरैय्या, भवनियापुर व गंगापुर के बीच नट बोल्ट खोलकर पटरी उखाड़ने की कोशिश तो की गई किन्तु रेल कर्मियों की सतर्कता के कारण अराजक तत्वों को कामयाबी नहीं मिल सकी।

दो दिन लगातार हुई इन घटनाओं को तो रेल प्रशासन ने दबाए रखा किन्तु लगातार तीसरे दिन जब दिनदहाड़े रेल पटरी उखाड़ने की कोशिश की गई तो पूवरेत्तर रेलवे नानपारा के सीनियर सेक्टर इंजीनियर श्री प्रसाद की तहरीर पर थाना रुपईडीहा में अपराध संख्या 395/09 धारा 379 आईपीसी व 150 ख रेलवे अधिनियम के तहत अज्ञात लोगों के खिलाफ अभियोग दर्ज किया गया है।

रिपोर्ट दर्ज होने के बाद रुपईडीहा के उपनिरीक्षक लालजी प्रसाद व जगदीश प्रसाद जायसवाल ने पुलिस बल के साथ रेलवे लाइन पर दस किलोमीटर दूरी पर पैदल जाकर जाँच की। अभी तक पुलिस को रेलवे लाइन उखाड़ने वाले लोगों का सुराग नहीं मिल सका है। नेपालगंज रोड रेलवे स्टेशन के अधीक्षक अनिल कुमार ने बताया कि रेलवे के इतिहास में रेलवे लाइन को उखाड़ने की कोशिश की यह पहली घटना है।

इसके पूर्व इस तरह की हरकत कभी नहीं की गई थी। सीमा के जानकार सूत्रों का कहना है कि ऐसा लगता है कि कोई आतंकी संगठन भारतीय क्षेत्र में रेलवे लाइन क्षतिग्रस्त कर ट्रेन दुर्घटना कराना चाहता है। इसी के चलते लगातार तीन दिन रेलवे लाइन उखाड़ने की कोशिश की गई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रेल पटरी को उखाड़ने की कोशिश