DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सूखे से निपटने की रणनीति के लिए आठ को बैठक

मंत्री फागू चौहान ने प्रदेश में सूखे की भयावहता को देखते हुए राज्य के सभी मण्डलायुक्तों को आठ अगस्त को लखनऊ तलब किया है। बैठक में किसानों व ग्रामीण जनता की राहत के लिए बनाई गई रणनीति पर अमल किए जाने पर विचार-विमर्श किया जाएगा। राजस्व मंत्री ने बताया कि सूखाग्रस्त जनपदों में 31 मार्च 2010 तक लगान और आबपाशी  की वसूली स्थगित रहेगी।

इसके अलावा किसानों से कृषि णों की वसूली भी नहीं की जाएगी। इसके अलावा विविध देयों की वसूली के लिए किसानों के खिलाफ कोई उत्पीड़नात्मक कार्यवाही भी नहीं की जाएगी। उन्होंने बताया कि राज्य के 71 जिलों में से अब तक 58 जिलों को सूखाग्रस्त घोषित कर दिया गया है।

शेष जो 13 जिले बचे हैं, उनमें श्रावस्ती, सोनभद्र, गोण्डा, संतरविदास नगर, बहराइच, हमीरपुर, लखीमपुर खीरी, ललितपुर, गोरखपुर, बागपत, महाराजगंज, बाराबंकी और प्रतापगढ़ शामिल हैं। इन तेरह जिलों में से तीन जनपदों बाराबंकी, गोरखपुर और प्रतापगढ़ में औसत वर्षा हुई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सूखे से निपटने की रणनीति के लिए आठ को बैठक