अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कहीं इसलिए तो नहीं दिया इस्तीफा

डीएवी कॉलेज में शुक्रवार को डॉ. दिनेश कुमार के इस्तीफे की दूसरी वजहों पर भी चर्चा होती रही। इस बार प्रबंधन ने निर्धारित सीटों से अधिक प्रवेश न लेने के सख्त निर्देश दिए हैं। किंतु डीएवी कॉलेज में इसका पालन कर पाना वर्तमान परिस्थितियों में संभव नहीं है। कॉलेज में हर वर्ष करीब 35-36 हजार दाखिले होते हैं। लेकिन इस बार प्रबंधन समिति व विश्वविद्यालय ने निर्धारित 12080 सीटों से अधिक प्रवेश न देने की बात कही है। ऐसे में प्रवेश समिति के समन्वयक डॉ. दिनेश कुमार ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है।


डॉ. दिनेश कुमार को इस बात की आशंका है कि अगर प्रवेश में इतनी सख्ती बरती तो छात्र नेताओं के सीधे निशाने पर वे आ जाएंगे। प्राचार्य डॉ. अशोक सक्सेना ने भी प्रवेश के मामले से अपना पलड़ा छाड़ लिया है। उन्होंने प्रवेश की पूरी तरह डॉ. दिनेश कुमार को जिम्मेदार बताया है। इस स्थिति को देखते हुए डॉ. दिनेश कुमार ने किनारा करना ही उचित समझ। डॉ. दिनेश कहते हैं कि प्रवेश के लिए प्राचार्य सहित सभी जिम्मेदार होते हैं। ऐसे में सिर्फ एक व्यक्ति पर सारी जिम्मेदारी थोपना उचित नहीं हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कहीं इसलिए तो नहीं दिया इस्तीफा