अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों का टीम ने किया दौरा

ह्यूमन राइट्स फोरम (मानवाधिकार मंच) झारखंड-बिहार के मानवाधिकार कर्मियों, बुद्धिाीवियों एवं समाजसेवियों की टीम कोसी क्षेत्र के विभिन्न बाढ़ग्रस्त इलाकों का भ्रमण करते हुए वीरपुर पहुंची। जांच टीम इस निष्कर्ष पर पहुंची है कि सरकार की ओर से लोगों की समस्या की अनदेखी की जा रही है। लोगों के पास रोगार नहीं हैं। खेतों में शिल्ट जमा हैं। लोग भूखे मर रहे हैं और सरकार कुछ नहीं कर रही है। जांच टीम ने कुसहा बांध निर्माण का भी निरीक्षण किया। निरीक्षणोपरांत मानवाधिकार फोरम के बिहार-झारखंड अध्यक्ष त्रिवेणी सिंह ने पत्रकारों को बताया कि 31 मार्च तक बांध को पूरा करने की समय सीमा तय है, परन्तु लगातार कार्य करने के बावजूद जून से पहले इसे पूरा नहीं किया जा सकता।ड्ढr ड्ढr उन्होंने कहा कि अगर जनवितरण प्रणाली को दुरुस्त कर दिया जाय तो इस इलाके के लोगों को भूखों मरने से बचाया जा सकता है। खेतों में शिल्ट निकालना अगर संभव नहीं है तो खेतों में दस ईंच मिट्टी बिछाकर खेती के लायक बनाया जा सकता है। सड़कें टूटी हुई है। टीम में बीएस उपाध्याय, अरविंद कुमार, प्रो. विद्यानंद यादव, रणजीव, आर.के. राजन आदि शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों का टीम ने किया दौरा