DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मिलावट के खिलाफ कठोर कार्रवाई के निर्देश

उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती ने खाद्य पदार्थों एवं दवाओं के मिलावट की घटनाओं पर प्रभावी अंकुश लगाने के लिए शासन स्तर पर स्वतंत्र रुप से खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग के गठन को मंजूरी प्रदान की है।

मायावती ने इसके साथ ही इसके अधीन सुदृढ़ प्रवर्तन एवं अभिसूचना इकाई को गठित करने एवं इसकी समस्त कार्यप्रणाली को प्रभावी बनाने के भी निर्देश दिए हैं। उन्होंने मिलावट सम्बंधी शिकायतों के कारगर निस्तारण के लिए पब्लिक वाच ग्रुप बनाने और एक हेल्प लाइन स्थापित करने के भी आदेश दिए हैं जिससे आम जनता से प्राप्त शिकायतों पर तेजी से कार्यवाही सुनिश्चित की जा सके।

उन्होंने फील्ड अधिकारियों को अपमिश्रण करने वालों के खिलाफ कठोर से कठोर कार्रवाई सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। उल्लेखनीय है कि पूर्व में यह कार्य चिकत्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अधीन था। नगर क्षेत्र में खाद्य अपमिश्रण निवारण का कार्य स्थानीय नागर निकाय के स्वास्थ्य निरीक्षकों द्वारा अपने सफाई कार्यों के अतिरिक्त देखा जाता था और औषधि प्रशासन विभाग का कार्य ड्रग इन्सपेक्टर द्वारा मुख्य चिकित्साधिकारी के पर्यवेक्षण में देखा जाता था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मिलावट के खिलाफ कठोर कार्रवाई के निर्देश