DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शौक पुरा करने के लिए शाटकर्ट तरीका अच्छा

शार्टकट किसे अच्छा नहीं लगता,लेकिन जब यह युवाओं के सिर चढ़ जाए तो नतीजा बुरा होता है,पहले मेरठ में साथियों द्वारा बच्चे का अपहरण व हत्या और अब दिल्ली में उसी तर्ज पर वारदात।

यह बताने के लिए काफी हे कि नई युवा पौध अपने शौक को पुरा करने के लिए किस हद तक जा सकती है।हालांकि नोएडा शहर में तेयार युवा पौध हत्या तक नहीं पहुंची लेकिन चेन स्नेचिंग,लूट व चोरी मे यहां के युवाओं को अव्वल श्रेणी में रखा जा सकता है। दिलचस्पी की बात तो यह है कि इन युवाओं अधिकांश बड़े घराने व संपन्न परिवार के लोग शामिल है।


आंकड़ों के मुताबिक कोतवाली सेक्टर 20 में तैनात रह चुके दरोगा जी कुमार का भाई गोली मारने के आरोप में जेल जा चुका है जबकि गाजियाबाद में ट्रैफिक पुलिस में तैनात दरोगा बलबीर यादव का बेटा अशोक यादव एक मल्टीनेशनल कंपनी के सीईओ के अपहरण का प्रयास और लूटपाट के आरोप में जेल की हवा खा रहा है। कासना में तैनात रहे दरोगा यशपाल सिंह का बेटा भी लड़की को अगवा करने के  आरोप में जेल जा चुका है। 3 अप्रैल को झुंडपुरा में हुई बस लूटकांड में गाजियाबाद के एक कांग्रेसी नेता के बेटे हर्ष का नाम आया है जो अभी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। पिछले दिनों सेक्टर 58 के एक कॉलसेंटर की एक्जीक्युटिव अपने सहेली का क्रेडिट कार्ड चुराकर खरीदारी करने के आरोप में जेल जा चुकी है। इसके अतिरिक्त पिछले छह महीने में एक दर्जन से अधिक ऐसे युवा जेल जा चुके हैं जो अच्छे परिवारों से ताल्लुक रखते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शौक पुरा करने के लिए शाटकर्ट तरीका अच्छा