DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी बोर्ड से संबद्ध स्कूलों की नियमावली तैयार

छात्रों के साथ अब शिक्षकों की उपस्थिति का ब्यौरा भी लिया जाएगा। नए सत्र से यह व्यवस्था यूपी बोर्ड से संबद्ध कॉलेजों में लागू कर दी गई है। पिछले दिनों डीआईओएस की अध्यक्षता में हुई प्रधानाचार्यो की बैठक के दौरान शैक्षिक गुणवत्ता बनाए रखने के लिए इस पर विचार किया गया था। पंद्रह दिन के अंदर इसकी समीक्षा की जा सकती है।


हिंदी, अंग्रेजी, गणित व विज्ञान सहित दूसरे विषयों का कोर्स कितना खत्म हुआ है। इस बात की जानकारी समय-समय पर प्रधानाचार्यो को देनी होगी। इसके साथ ही विभिन्न विषयों का कोर्स खत्म करने का समय निर्धारित किया गया है। इसमें यह देखा जाएगा कि कितने समय में कितना कोर्स हुआ है, कोर्स खत्म होने के बाद क्लास टेस्ट में छात्र ने कैसा प्रदर्शन किया है। इसके अलावा कौन सा बच्च कमजोर है, कौन सा औसत व कौन सा मेधावी यह जानकारी विषय शिक्षक कॉलेज प्रभारी को देंगे। जिले में संचालित 121 हाईस्कूल व इंटरमीडिएट कॉलेजों में9 यह व्यवस्था लागू कर दी गई है। डीआईओएस डॉ. ज्योति प्रसाद ने बताया कि समय पर कॉलेज खुलने, बंद होने व नियमित कक्षाएं लगाने सहित अन्य विषयों पर बैठक के दौरान चर्चा की गई थी। इसके अलावा शैक्षिक गुणवत्ता बढ़ाने के लिए कोर्स समय पर खत्म करवाने पर गंभीरता से विचार किया गया। जिसमें इस बात को रखा गया था कि शिक्षकों को कलेंडर के अनुसार कोर्स खत्म करवाना होगा। जिसका ब्यौरा वे समय-समय पर कॉलेज प्रभारियों को देंगे। राजकीय इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य डॉ. पूरन सिंह ने बताया कि सत्र शुरू होने के साथ ही यह व्यवस्था लागू कर दी गई है। समय पर कोर्स खत्म करवाने की ओर ध्यान दिया जा रहा है। जिसके चलते शिक्षकों से कोर्स खत्म करवाने का ब्यौरा मांगा जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यूपी बोर्ड से संबद्ध स्कूलों की नियमावली तैयार