अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आंगनबाड़ी वर्करों को मिला शौचालय बनाने का काम

आंगनबाड़ी वर्करों और शिक्षा मित्रों को अपने काम के अलावा जिला प्रशासन ने शौचालय बनवाने का अतिरिक्त भार सौंपा है। ग्राम पंचायतों में शौचालय बनवाने के लिए ग्रामीणों को प्रेरित करने पर आंगनबाड़ी वर्करों व शिक्षा मित्रों को 40 रुपए मानदेय मिलेगा। गुरुवार को यह घोषणा प्रभारी डीएम ने की।


प्रभारी डीएम सारिका मोहन के अनुसार 243 ग्राम पंचायतों में शौचालय बनवाने के लिए शिक्षा मित्रों, आंगनबाड़ी वर्करों को प्रेरक के रूप में नियुक्त किया जाएगा। शौचालय बनवाने के लिए प्रत्येक प्रेरक को 40 रुपए मानदेय फिक्स होगा। उन्होंने बताया कि व्यक्तिगत शौचालय निर्माण के लिए शासन ने 1500 रुपए की धनराशि बढ़ाकर 2500 और अंबेडकर ग्राम सभाओं में व्यक्तिगत शौचालयों के लिए 4940 रुपए देने की घोषणा की है। प्रभारी डीएम के अनुसार संपूर्ण स्वच्छता अभियान के तहत बीपीएल के 14574, एपीएल के 58357 शौचालय बनाने की योजना है। इसके अलावा जनपद में 15 सामुदायिक महिला शौचालय, 594 शौचालय स्कूलों में व 716 शौचालय आंगनबाड़ी केंद्रों में बनाया जाएगा। ग्राम पंचायतों में शौचालय बनाने के लिए जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देशित किया गया है। इसके लिए समस्त बीडीओ समन्वयक का काम करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आंगनबाड़ी वर्करों को मिला शौचालय बनाने का काम