DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईटीआई के कंट्रोलर, सप्लायर और हेडक्लर्क गिरफ्तार

विजिलेंस ब्यूरो ने आईटीआई के परीक्षा नियंत्रक मनोज मानकर, सप्लायर संजय कुमार यादव और हेड क्लर्क लक्ष्मण प्रसाद को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया। ब्यूरो ने आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने के मामले में बुधवार को इनके ठिकानों पर छापेमारी कर करोड़ों रुपए की चल-अचल संपत्ति का खुलासा किया था।

इसी सिलसिले में ब्यूरो की टीमों ने देर रात तक इनसे पूछताछ की। शुरू में थोड़ा आनाकानी की लेकिन समय के साथ टूट गए। तीनों ने टीम के सामने कई राज खोले हैं। इसके बाद इन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। हालांकि आईटीआई का इंस्ट्रक्टर सत्येन्द्र प्रसाद अब भी ब्यूरो की पकड़ से बाहर है। उसकी तलाश जारी है।

सूत्रों के अनुसार पूछताछ में रहस्यों से पर्दा उठा है। मानकर, संजय और लक्ष्मण ने ब्यूरो के सामने जो बताया है उसके मुताबिक इनका नेटवर्क काफी फैला हुआ है। यहां तक की सचिवालय स्तर के कई पदाधिकारी भी इस नेटवर्क में शामिल बताए गए हैं। इस पूरे खेल में आईटीआई के कई कर्मचारी शामिल बताए गए हैं।

ब्यूरो की गिरफ्त में आए कंट्रोलर और हेडक्लर्क के अलावा कई और कर्मचारी हैं जिनके बारे में यह पता चला है कि वे भी प्राइवेट आईटीआई चलाने के रैकेट में शामिल हैं। ब्यूरो उनका ब्योरा तैयार कर रहा है। संभव है और बड़ी मछलियां विजिलेंस की जाल में फंसेंगी। गोरखधंधा के लिए ट्रस्ट बनाकर और कई तरह के फर्जीवाड़े का भी पता चला है।

ब्यूरो के एक अधिकारी ने कहा जैसे-जैसे तफ्तीश आगे बढ़ेगी और खुलासे होंगे। काफी कुछ सुराग उनके हाथ लगे हैं जो आगे चलकर केस का आधार बनेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आईटीआई के कंट्रोलर, सप्लायर और हेडक्लर्क गिरफ्तार