DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हरभजन ने किया दूसरा का बचाव

हरभजन ने किया दूसरा का बचाव

आस्ट्रेलिया में दूसरा के खिलाफ उठी चर्चाओं के बीच स्टार भारतीय ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह ने गुरुवार को इस गेंद का बचाव किया क्योंकि इसकी वजह से ही उन्होंने काफी विकेट अपने नाम किए हैं।

ब्रिस्बेन में पिछले हफ्ते हुए स्पिन सम्मेलन में शेन वार्न, स्टुअर्ट मैकगिल और एशले मैलेट जैसे पूर्व स्पिनरों ने दाएं हाथ के गेंदबाज से दूर जाती गेंद को खत्म करने की बात की थी। हरभजन ने कहा कि यह ऑफ स्पिनर का सबसे अहम हथियार होता है और इसे नजरअंदाज नहीं किया जा सकता।

हरभजन ने कहा कि यह शायद आस्ट्रेलिया का नजरिया हो और मेरा इससे कोई लेना देना नहीं है। उन्होंने कहा कि भारत समेत क्रिकेट खेलने वाले बाकी सभी देशों में प्रत्येक खिलाड़ी अपनी गेंदबाजी में विविधता लाना चाहता है और मुझे लगता है कि युवाओं को इसे सीखना चाहिए।

दाएं हाथ के बल्लेबाजों से दूर जाती रहस्यमयी गेंदबाजी में सिर्फ हरभजन और मुथैया मुरलीधरनमाहिर हैं। पाकिस्तान के आलराउंडर शोएब मलिक और दक्षिण अफ्रीका के जोहान बोथा भी दूसराफेंकते हैं। दिलचस्प बात है कि इन चारों के कैरियर में कभी न कभी एक्शन संदिग्ध पाया गया।

पिछले महीने हुए स्पिन सम्मेलन की रिपोर्ट के अनुसार पूर्व आस्ट्रेलियाई टेस्ट खिलाड़ी मैलेटने कहा कि चकिंग के बिना दूसरा नहीं फेंका जा सकता। वार्न और उनके गुरु टेरी जेनर और मैकगिल तथा मैलेट का मानना था कि आस्ट्रेलिया में किसी भी क्रिकेट अकादमी में दूसरा नहीं सिखाया जाना चाहिए।

राहुल द्रविड़ के चैम्पियंस ट्राफी की भारतीय वनडे टीम में वापसी के बारे में पूछे जाने पर हरभजन ने कहा कि इससे टीम का मनोबल बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि अगर सचिन तेंदुलकर, राहुल और अनिल कुंबले जैसे अनुभवी खिलाड़ी बड़े टूर्नामेंट में खेलते हैं तो वे अपनी जिम्मेदारियां निभाते हैं और अन्य खिलाड़ी भी उनके जैसा ही अच्छा प्रदर्शन करने को प्रेरित होते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हरभजन ने किया दूसरा का बचाव