अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जोखिम भरा नहीं है नया अंतरिक्ष कार्यक्रमः नासा

जोखिम भरा नहीं है नया अंतरिक्ष कार्यक्रमः नासा

नासा का अगला चंद्र रॉकेट तैयार कर रहे इंजीनियरों ने इस बात से इनकार किया है कि मानव अंतरिक्ष उड़ान कार्यक्रम अधिक खर्चीला और जोखिम भरा है तथा इससे अंतरिक्ष में मानव की वापसी में अनावश्यक रूप से विलंब होगा।

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा द्वारा नियुक्त समिति के सामने बुधवार को इंजीनियरों ने अपने कार्यक्रम का बचाव किया। ओबामा ने इस बात की समीक्षा के लिए समिति नियुक्त की है कि अंतरिक्ष कार्यक्रम के खत्म होने पर क्या किया जाना चाहिए।

अमेरिका के अगले रॉकेट एरेस के डिजाइन पर चार साल गुजार चुके कार्यालय के प्रमुख ने नासा की हयूमैन स्पेस फ्लाइट प्लांस कमेटी के सदस्यों को बताया कि वर्तमान डिजाइन सर्वाधिक सुरक्षित है और यह अमेरिकियों को फिर से अंतरिक्ष में ले जाने का सबसे तेज रास्ता है।

हंटसविले स्थित नासा के मार्शल स्पेस फ्लाइट सेंटर में एरेस परियोजना कार्यालय के प्रमुख स्टीव कुक ने कहा कि हमने वह किया जो हमने कहा था और हम वही करेंगे तथा हम अपने पहले उड़ान परीक्षण की राह पर सही तरह से आगे बढ़ रहे हैं। कुक ने एक सार्वजनिक सुनवाई में इन कयासों को खारिज कर दिया कि एरेस को लेकर अंतरिक्ष एजेंसी गलत रास्ते पर है।

उन्होंने कहा कि हम अपने नहाने का पानी खुद नहीं पी रहे। जबसे हमने शुरुआत की है तब से लेकर अब तक बाहर से बहतु सी समीक्षाएं हो चुकी हैं। अन्य प्रबंधकों ने समिति से कहा कि वे एरेस को लेकर कई तकनीकी चुनौतियों के साथ काम कर रहे हैं। मामूली संभावना यह है कि प्रक्षेपण के दौरान पैदा होने वाली शक्तिशाली उर्जा से अंतरिक्ष यात्री घायल हो सकते हैं या इससे उनके लिए मॉनिटरों पर नजर रखने जैसा आधारभूत काम करने में परेशानी हो सकती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जोखिम भरा नहीं है नया अंतरिक्ष कार्यक्रमः नासा