अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तहसीलदार से विवादित मुकदमों का चार्ज छिना

वकीलों के लगातार विरोध पर जिलाधिकारी ने ऊँचाहार के तहसीलदार से विवादित वादों की सुनवाई छीन ली है। तहसीलदार अब केवल अविवादित व 115सी के मामले ही सुन सकेंगे। डीएम के आदेश के पालन में एसडीएम श्रीमती चित्रलेखा सिंह ने नायब तहसीलदार को विवादित वादों की सुनवाई का जिम्मा सौंप दिया है।


ऊँचाहार तहसील के अधिवक्ताओं एवं तहसीलदार चन्द्रा बाबू गुप्ता के बीच चल रहे विवाद में आखिरकार तहसीलदार को ही नुकसान उठाना पड़ा है। वकीलों ने विभिन्न आरोप लगाते हुए डीएम से कार्रवाई की माँग की थी। डीएम डॉ. चरनजीत सिंह बक्शी ने मामले को गंभीरता से लेते हुए 20 जुलाई को पहले तहसीलदार से विवादित वादों के आधे मुकदमों का चार्ज छीन लिया।


तहसीलदार के खिलाफ की गई इस कार्रवाई से वकील संतुष्ट नहीं हुए। पुन: डीएम से मिलकर कार्रवाई की माँग की। इस पर डीएम ने पुन: पत्र संख्या 2897/एसटीडीएम/कैम्प/ दिनांक 25 जुलाई 09 जारी कर तहसीलदार से सभी विवादित मुकदमों की सुनवाई का अधिकार वापस लेने का आदेश जारी किया।


एसडीएम ऊँचाहार श्रीमती चित्रलेखा सिंह ने बताया कि डीएम के आदेश पर सभी विवादित वादों की सुनवाई का अधिकार नायब तहसीलदार आर.सी. पाण्डे को सौंप दिया गया है। श्रीमती सिंह ने बताया कि तहसीलदार अब 115सी, आय, जाति प्रमाणपत्र सहित अविवादित मुकदमों की ही सुनवाई करेंगे। श्री सिंह ने बताया कि नायब तहसीलदार को आदेश का तत्काल पालन करने का आदेश दिया गया है। उधर, लगभग डेढ़ महीने से आंदोलनरत तहसील के अधिवक्ता अब डीएम के आदेश से पूरी तरह संतुष्ट हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तहसीलदार से विवादित मुकदमों का चार्ज छिना