अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दबिश देने गई पुलिस पर हमला, दो घायल

नंदू उर्फ रावण के गुर्गों की तलाश में दिल्ली के दल्लूपुरा गांव में दबिश देने गई पुलिस टीम पर गांव वालों ने हमला बोल दिया और पुलिसकर्मियों की जमकर पिटाई की। जिसमें दो पुलिसकर्मी घायल हो गये। अपनी गर्दन फंसते देख पुलिसकर्मी भागकर न्यू अशोकनगर थाने पहुंचे और अज्ञात ग्रामीणों के खिलाफ मारपीट और सरकारी कार्य में बाधा उत्पन्न करने का मामला दर्ज कराया है।


सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार 10 हजार रुपए का इनामी नंदू उर्फ रावण के गुर्गो की गिरफ्तारी के लिए मंगलवार को दोपहर करीब 12 बजे दादरी पुलिस और एसओजी की टीम सादे ड्रेस में किसी आरोपी को साथ लेकर दिल्ली के दल्लूपुरा गांव में दबिश देने पहुंची। पुलिस ने सर्विलांस के आधार पर ट्रेस करके अन्नू नामक एक युवक को उठा लिया। इस पर उसने शोर मचा दिया। गांव वालों ने बदमाश समझकर पुलिसटीम पर हमला बोल दिया। ग्रामीणों ने दादरी पुलिस और एसओजी टीम को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। जिससे दादरी कोतवाली में तैनात दरोगा धीरेन्द्र कुमार और एक सिपाही गंभीर रुप से घायल हो गये । मामले की सूचना मिलने पर स्थानीय विधायक अनिल कुमार भी पहुंच गये। उन्होंने जब घटना की हकीकत जानना चाहा तो एसओजी प्रभारी संजय भारद्वाज ने उनसे बदसलूकी की और देख लेने की धमकी दी। एसओजी प्रभारी ने यहां तक कह डाला कि मेरे ऊपर हत्या के कई मुकदमें चल रहे हैं। मै किसी को भी गोली मार सकता हूं। ग्रामीणों के बढ़ते दबाव को देखते हुए पुलिस टीम भागकर न्यूअशोकनगर थाने पहुंची और उल्टे ग्रामीणों के खिलाफ मारपीट करने और सरकारी कार्य में बाधा डालने का मामला दर्ज कराया है। उधर सीओ दादरी का कहना है कि दबिश की सूचना दिल्ली पुलिस को पहले ही दी जा चुकी थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दबिश देने गई पुलिस पर हमला, दो घायल