अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तोगड़िया के धौरहरा में प्रवेश के दौरान विवाद, नोकझोंक

मेरे साथ बद्सलूकी की गई : सहायक मुतवल्ली
हम सिर्फ दर्शन करने आये थे : तोगड़िया
 
माधवराव धौरहरा में बुधवार को पूर्वाह्न में विहिप के अंतर्राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीण तोगड़िया के प्रवेश करने के दौरान जूते-चप्पल उतारने को लेकर विवाद हो गया। इस दौरान मस्जिद के सहायक मुतवल्ली के साथ समर्थकों की नोकझोंक हुई। घटना की जानकारी मिलते ही एसपी सिटी समेत अन्य पुलिस अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर मामले को शांत कराया। एहतियात के तौर पर वहां अतिरिक्त पुलिस फोर्स तैनात कर चौकसी बढ़ा दी गई।
विहिप के अंतर्राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीण तोगड़िया प्राचीन व प्रमुख मंदिरों की धर्मयात्र पर काशी आए हैं। बुधवार को विहिप कार्यकर्ताओं के साथ णहरेश्वर महादेव, तिलभांडेश्वर महादेव, संकठा माता समेत अन्य मंदिरों में दर्शन के बाद वे माधवराव धौरहरा पहुंचे। उनके साथ मौजूद कुछ लोग जूता-चप्पल उतारे बिना अंदर जाने लगे, तो सहायक मुतवल्ली राशिद ने टोका। इसके बाद कहासुनी व नोकझोंक हो गई। इस बीच प्रवीण तोगड़िया ने अंदर जाकर देखने की इच्छा जताई तो वहां मौजूद पुरातत्व विभाग का कर्मचारी विनोद ने ताला खोल दिया। सभी अंदर चले गये। राशिद वहां पहुंचे तो फिर नोकझोंक होने लगी। सूचना मिलते ही वहां एसपी सिटी विजय भूषण के साथ कोतवाली सीओ व इंस्पेक्टर तथा एलआईयू इंस्पेक्टर पीके अस्थाना भी पहुंच गये। तब तक मुतवल्ली सादिक अली भी वहां पहुंच चुके थे।


राशिद अली का कहना था कि पहले जूते उतारने को लेकर विवाद हुआ। बाद में अंदर जाने पर तोगड़िया समर्थकों ने उनके साथ बदसलूकी की। दूसरी ओर प्रवीण तोगड़िया ने कहा कि काशी में प्राचीन मंदिरों में दर्शन करने के इच्छा से बिंदूमाधव मंदिर गये थे। वहां पहुंचने पर एक व्यक्ति उनका अकारण विरोध करने लगा। पता चला कि वह किसी भी हिंदू को वहां नहीं आने देता है। उसके विरोध करने पर पुलिसवालों ने उसे हटने को कहा। वह अड़ा रहा तो पुलिस ने उसे पकड़ कर बाहर निकाला। उन्होंने जूता पहनकर प्रवेश करने के आरोपों को खारिज कर दिया। कहा कि धौरहरा के बगल में ही ¨बदू माधव का मंदिर है। मांग की कि अगर वहां हिंदुओं को प्रवेश करने से रोका जा रहा है तो प्रशासन कड़े कदम उठाये।


बनारस में बनाएंगे दो लाख कार्यकर्ता
विहिप के अंतर्राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीण तोगड़िया धौरहरा से सीधे मच्छोदरी स्थित स्वामी नरायन मंदिर पहुंचे। वहां उन्होंने कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर संगठित होने का आह्वान किया। तोगड़िया ने बताया कि पूरे देश में बजरंग दल में 25 लाख कार्यकर्ता बनाये जाने का लक्ष्य है। बनारस में दो लाख कार्यकर्ताओं की भर्ती की जाएगी। वे फिलहाल स्वामी नरायन मंदिर में ठहरे हुए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तोगड़िया के धौरहरा में प्रवेश के दौरान विवाद, नोकझोंक