अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लश्कर ने कराए थे मुबंई हमले: पाक जांचकर्ता

लश्कर ने कराए थे मुबंई हमले: पाक जांचकर्ता

पाकिस्तानी जांचकर्ताओं को पिछले वर्ष हुए मुबंई हमलों में आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के प्रत्यक्ष रूप से शामिल होने ठोस सबूत मिले हैं।

पाकिस्तान समाचार पत्र ‘डॉन’ के मुताबिक पाकिस्तान जांचकर्ताओं द्वारा 11 जुलाई को भारत को सौपें गए ताजा सबूतों से पता चलता है कि मुंबई आतंकवादी हमलों की पूरी साजिश लश्कर-ए-तैयबा ने रची थी।

इन साक्ष्यों से पता चलता है कि लश्कर ने मुबंई हमलों में शामिल रहे आतंकवादियों को प्रशिक्षण और हथियार उपलब्ध कराए थे। इन सबूतों को लश्कर के कराची और तटीय थट्टा कस्बे में स्थित ठिकानों से बरामद किया गया था।

मुबंई हमलों की जांच कर रही एफआईए के जांचकर्ताओं ने आतंकवादियों को प्रशिक्षण, धन और हथियार उपलब्ध कराने वाले लोगों के विषय में कुछ नए और चौंका देने वाले तथ्यों का पता लगाया है। उनके मुताबिक इस बात में अब कोई संदेह नहीं है कि मुबंई पर हुए आतंकवादी हमले लश्कर ने कराए थे।

लश्कर के आतंकवादियों ने ही इन हमलों की साजिश रची, हमले की पूरी योजना बनाई, धन उपलब्ध कराए और इन हमलों को क्रियान्वित करने के लिए संचार नेटवर्क विकसित किया। इन ताजा सबूतों ने मुबंई हमलों में शामिल लश्कर के पांच आतंकवादियों के खिलाफ पाकिस्तान के रावलपिंडी शहर की आतंकवाद निरोधक अदालत में चल रही सुनवाई के लिए आधार दे दिया है।

पाकिस्तानी जांचकर्ताओं के मुताबिक लश्कर के इन ठिकानों से हाथ से लिखी गई डायरी, प्रशिक्षण के नियम, लाइफ बोट, भारत के नक्शे तथा संपूर्ण अभियान के दिशा-निर्देश बरामद किए गए हैं। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार किए गए पांचों लश्कर कमांडर मुबंई हमले में शामिल रहे आतंकवादियों के लिए प्रशिक्षण शिविर चला रहे थे। उन्होंने आतंकवादियों को नौपरिवहन का विशेष प्रशिक्षण, खुफिया सूचनाएं तथा दिशा-निर्देश प्रदान किए।

नए साक्ष्यों के मुताबिक आतंकवादियों का प्रशिक्षण शिविर का कोडनेम अजीजाबाद था जोकि कराची स्थित लश्कर शिविर में आयोजित किया गया था। आतंकवादियों ने इसके अलावा थट्टा के शिविर में भी प्रशिक्षण प्राप्त किया था। जांचकर्ताओं ने यहां से जेब रखे जा सकने वाली डायरियां बरामद की, जिसमें सभी आरोपियों के नाम तथा शिविर में होने वाले खर्चे के विषय में लिखा गया है।
 
ज्ञातव्य है कि पाकिस्तान ने लश्कर के पांच कमांडरों को गिरफ्तार किया है। इनमें मुंबई में हुए भीषण आतंकवादी हमलों की योजना बनाने वाले जकीउर रहमान लखवी और जरार शाह के अलावा हम्माद अमीन सादिक, मजहर इकबाल तथा शाहिद जमील रियाज शामिल हैं। मुंबई हमलों में शामिल रहे एकमात्र जीवित पाकिस्तानी नागरिक अजमल आमिर कसाब ने पूछताछ के दौरान बताया था कि लखवी और जरार शाह ने इन हमलों के लिए प्रशिक्षण और आतंकवादियों को भेजने का काम किया था।

इन पांचों आरोपियों को शनिवार को उच्च सुरक्षा वाले रावलपिंडी स्थित आतंकवाद निरोधक अदालत में पेश किया गया था। लखवी, जरार शाह और मजहर इकबाल पर मुबंई हमलों की योजना बनाने, तैयारी करने, उसे अंजाम देने और हमलों में शामिल 10 आतंकवादियों को निर्देश देने का आरोप लगाया गया है। इन आतंकवादियों पर लगाए गए आरोपपत्र के मुताबिक इन लश्कर आतंकवादियों के मुबंई हमलों में शामिल होने के पर्याप्त मौखिक, दस्तावेजी, परिस्थितिवश और वैज्ञानिक साक्ष्य मौजूद हैं। इस मामले की सुनवाई 29 अगस्त तक के लिए स्थगित हो गई है।

जकिउर रहमान लखवी को मुंबई पर हुए आतंकवादी हमलों का मास्टरमांइड माना जाता है। जरार शाह एक कम्प्यूटर विशेषज्ञ है और उस पर आतंकवादियों को संचार व्यवस्था उपलब्ध कराने का आरोप है, जबकि मजहर इकबाल ने इस पूरे अभियान को निर्देशित किया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लश्कर ने कराए थे मुबंई हमले: पाक जांचकर्ता