DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विभागों के उलझन में बर्बाद हो हुई शहर की सड़कें

एक कहावत ज्यादा जोगी मठ बिगाड़े। शहर की सड़कों के आका कई है। शहर की सड़कों की दुर्दशा विभागीय तालमेल में कमी की कहानी की तस्वीर हैं। शहर की सड़कें सीवरेज और ड्रेनेज रामभरोसे हैं। सीवरेज के लिए पाइप लाइन कोई और डालता है, ठहरे हुए पानी के लिए सीवरेज से उसका कनेक्शन कोई और करता है। शहर की भीतरी सड़कों के निर्माण के लिए चार सरकारी विभाग जिम्मेदार हैं। एक ही इलाके की आधी सड़क किसी विभाग के जिम्मे है तो आधी सड़क किसी और के। इनमें आपसी सामंजस्य नहीं है। सीवरेज, ड्रेनेज आदि की पाइप लाइन डालने वालों और सड़क बनाने वालों में भी कॉर्डिनेशन की कमी है। सजा लोग भुगत रहे हैं। नतीज है सड़क पर ठहरा हुआ पानी, जाम और दुर्घटना। 


सोमवार की रात एक सड़क धंसी है। कई सड़कें धंस सकती हैं । लोग दुर्घटना ग्रस्त हो सकते हैं, प्रशासन इस घालमेल के उपाय भी नहीं करता। हुडा के सेक्टरों की सउ़क हुडा को कॉलोनी बनने तक बनानी थी मगर कॉलोनियों को बने वर्षो हुए , शहर की कॉलोनियों की सड़के हुडा बनाती है। नगरनिगम को इन सड़कों की जिम्मेदारी नहीं मिली। कु छ सड़के हरियाणा राज्य औद्योगिक विकास निगम बनाती है। मोर चौक पर जहां सोमवार को सड़क धंसने की घटना हुई वहां की सड़क पीडब्लूडी बी एंड आर विभाग के जिम्मे हैं मगर वहां ठहरे हुए पानी के लिए पाइप लाइन बिछाने का काम जनस्वास्थ्य विभाग करता है। दो विभागों में तालमेल की कमी इस घटना का कारण बनी। बसई रोड पर कई महीनों से सीवर लाइन डाले जने का काम हो रहा है। कई जगह बड़े गड्ढे बने हैं। इस तोड़ी सड़क पर मिट्टी के ढेर पड़े हैं। यहां कभी भी दुर्घटना हो सकती है। सदर बाजार से कई मुहल्लों बसई और पटौदी से शहर को जोड़ने वाली इस सड़क को हुडा बनाएगा मगर अभी नहीं जब सीवर निर्माण का काम पूरी तरह पूरा हो जाएगा। इसमें छह महीने लगेंगे या साल कहना हुडा केअधिकारियों को नही पता। जब तक पूरी सड़क पर सीवर लाइन का काम बिल्कुल खत्म नहीं होगा सड़क नही्रे बनेगी लोगों को खतरा बना रहेगा।  खांडसा रोड की दुर्दशा का कारण भी यही घालमेल है। 800 मीटर सड़क  पीडब्लूडी के जिम्मे है तो सड़क का अगला हिस्सा निगम के जिम्मे। अजरुन नगर, मदनपुरी, से लेकर साउथ सिटी टू तक कई जगह सीवर का पानी सड़कों पर तैर रहा है। लोग दुर्घटना ग्रस्त और बीमार हो सकते हैं मगर प्रशासन विभागीय उलझन सुलझ नहीं पाया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विभागों के उलझन में बर्बाद हो हुई शहर की सड़कें