DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दुश्मनों की ‘दोस्ती’ बनी खतरा

पश्चिमी यूपी में बढ़ती आतंकी गतिविधियों ने शासन की नींद उड़ा दी है। खुफिया विभाग को स्वतंत्रता दिवस पर आतंकी वारदात की आशंका है, तो केंद्रीय गृह मंत्रलय को चिंता है आतंकी संगठनों और बांग्लादेशियों की जुगलबंदी की। इसी कारण मंत्रलय ने यूपी की जेलों में बंद बांग्लादेशियों की फोटो समेत विस्तृत जानकारी मांगी है।

नेताओं के आतंकी संगठनों के निशाने पर होने तथा वेस्ट यूपी में बांग्लादेशियों की बढ़ती गतिविधि संबंधी खुफिया रिपोर्ट ने पुलिस-प्रशासन और शासन की नींद उड़ा दी है। स्वतंत्रता दिवस पर चौकसी बरतने की इंटेलीजेंस और खुफिया रिपोर्ट की रिपोर्ट के आधार पर एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं।

गृह मंत्रलय ने यूपी की जेलों में बंद बांग्लादेशियों के बारे में विस्तृत जानकारी मांगी है। मेरठ परिक्षेत्र की तीन जेलों  गाजियाबाद जेल में 51, सहारनपुर में 12 और देवबंद जेल में छह बांग्लादेशी बंद हैं। गाजियाबाद जेल में पांच सिद्धदोष बंदी भी शामिल हैं।

इन सभी का विवरण मेरठ परिक्षेत्र के डीआईजी (जेल) एके पंडा ने प्रदेश मुख्यालय को भिजवा दिया है। परिक्षेत्र की तीन जेलों में छह आतंकी भी बंद हंै। इनपर निगरानी बढ़ाने और मुलाकातियों की छानबीन के निर्देश दिए हैं।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दुश्मनों की ‘दोस्ती’ बनी खतरा