अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

100 मीटर लंबी दीवार, चौड़ाई महज 4 इंच

विशनपुरा में 11 लोगों की जान लेने वाली खूनी दीवार को बनवाने में मालिक कांग्रेसी नेता रघुराज सिंह की लापरवाही साफ झलक गई। खूनी दीवार की कुल लंबाई करीब 100 मीटर थी और ऊंचाई लगभग 30 फीट, लेकिन चौड़ाई महज चार इंच की गई थी। बाउंड्री वाल को बनाकर एक तरफ करीब 15 फीट तक मिट्टी का भराव कर दिया गया जबकि झुग्गियां 15 फीट नीचे थीं। बारिश के पानी की कोई निकासी की व्यवस्था भी नहीं की गई थी, जिसके कारण इतना बड़ा हादसा हुआ। जमीन के मालिक की घोर लापरवाही के कारण 9 गरीब अभी भी अस्पतालों में जिंदगी मौत से जूझ रहे हैं। कारपेंटरी का काम करने वाले सलीम नामक व्यक्ति  कहना था कि उक्त दीवार पहले भी दो बार गिर चुकी है, पर मालिक ने नहीं ध्यान दिया।


उन्होंने बताया कि दीवार की खाली पड़े प्लाट को कर्मा, राजन, देवेन्द्र, सूवे व यशपाल आदि ने रेंट पर ले रखा है। यहां वर्तमान में करीब 35 झुग्गियां बनाई गई थीं और हर झुग्गी से करीब 500-600 रुपए किराया वसूल किया जाता है। डिप्टी एसपी सेकेंड शैलेन्द्र लाल का कहना था कि दीवार की लंबाई के हिसाब से चौड़ाई कम थी। प्रथम दृष्टया दीवार की चौड़ाई महज चार इंच लग रही है। एक्सपर्ट के मुताबिक लंबी दीवार की चौड़ाई कम से कम 9 इंच होनी चाहिए थी। जब प्लाट में मिट्टी की भराई कराई गई तो उसमें पानी के निकासी की व्यवस्था होनी चाहिए थी। इतनी बड़ी बाउंड्रीवाल बनाने के लिए अथॉरिटी अथवा किसी अन्य विभाग से अनुमति ली जानी चाहिए थी। दीवार बनाने और मिट्टी की भराई कराने के बाद झुग्गियों को खाली नहीं कराना भी बड़ा मसला है, जिसका जवाब किसी के पास नहीं? इन सवालों पर कांग्रेसी नेता रघुराज सिंह से संपर्क का प्रयास बेकार रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:100 मीटर लंबी दीवार, चौड़ाई महज 4 इंच