अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शासन ने11 नए इंजीयिरिंग कॉलेज को सम्बद्धता दी

आखिरकार शासन ने11 नए इंजीयिरिंग कॉलेज को सम्बद्धता दे दी। मंगलवार को इनकी सम्बद्धता का आदेश यूपीटीयू प्रशासन को मिल गया। आदेश मिलने के साथ ही विश्वविद्यालय ने इन कॉलेजों के नाम काउन्सिलंग की सूची में जोड़ने की तैयारियाँ शुरू कर दी हैं। इन कॉलेजों के जुड़ने से यूपीटीयू में बीटेक की 2640 सीटें और बढ़ गई हैं। इसी तरह एक प्रबंधन कॉलेज को भी सम्बद्धता मिली है। इसमें 60 सीटें स्वीकृत हुई हैं। 

इस वर्ष प्रदेश के 166 इंजीनियरिंग व प्रबंधन कॉलेजों को एआईसीटीई ने अनुमन्यता दी थी। इन कॉलेजों ने यूपीटीयू से सम्बद्धता के लिए आवेदन किया था। यूपीटीयू ने सम्बद्धता की कार्रवाई पूरी कर इसे मंजूरी के लिए शासन भेज दिया था। शासन ने इनकी पत्रवलियों में अपत्तियाँ लगाकर वापस कर दी थी।

इससे कॉलेजों को सम्बद्धता नहीं मिल पाई। इधर विश्वविद्यालय की 26 जुलाई से काउन्सिलिंग शुरू हो गई। इससे नए कॉलेजों को सम्बद्धता मिलने की उम्मीद काफी कम हो गई थी। इन कॉलेजों में इस वर्ष दाखिले भी नहीं हो पाते। शासन से निराश 36 इंजीनियरिंग कॉलेजों ने उच्च न्यायालय से गुहार लगाई थी।

कालेजों का कहना था कि उन्होंने करोड़ों रुपए खर्च कर कॉलेज खड़े किए हैं अगर सम्बद्धता नहीं मिली तो वे कहीं के नहीं रहेंगे। कॉलेजों में इस वर्ष से पढ़ाई नहीं शुरू हो पाएई। शासन ने काउन्सिलिंग शुरू होने के बाद सोमवार को 11 इंजीनियिरंग व एक प्रबंधन कॉलेज को सम्बद्धता दे दी।

इसका आदेश भी विश्वविद्यालय को मिल गया। विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार यू.एस.तोमर ने बताया कि उन्हें कुछ कॉलेजों को सम्बद्धता मिलने का शासन का आदेश मिल चुका है। प्रत्येक कॉलेज में 240-240 सीटें स्वीकृत हुई हैं। श्री तोमर ने कहा कि अब इन कॉलेजों में इसी सत्र से एडमीशन होंगे। इसके लिए इन कॉलेजों को काउन्सिलिंग से जोड़ने की कवायद शुरू कर दी गई है। श्री तोमर के मुताबिक एक दो दिनों के भीतर इनका नाम काउन्सिलिंग से जुड़ जाएगा।

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शासन ने11 नए इंजीयिरिंग कॉलेज को सम्बद्धता दी