DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार में बनेंगे फूड पार्क और फूड जोन

बिहार सरकार ने खाद्य प्रसंस्करण को बढावा देने के लिए राज्य में दो फूड पार्क तथा समन्वित फूड जोन बनाने एवं 100 ग्रामीण एग्री व्यापार केंद्र स्थापित करने का फैसला किया है।
 
इसके साथ ही गुणवत्ता को सुनिश्चित करने एवं उत्पादों के विकास के लिए एक क्षेत्रीय केंद्र स्थापित करने का भी निर्णय किया है।
 बिहार के प्रधान खाद्य सचिव ए के सिन्हा ने आज यहां खाद्य प्रसंस्करण एवं कृषि पर दो दिवसीय अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन एवं प्रदर्शनी में यह विचार व्यक्त किए। एसोचैम द्वारा आयोजित इस सम्मेलन में बिहार भी एक पार्टनर है। सम्मेलन का उद्घाटन केन्द्रीय खाद्य संस्करण मंत्री सुबोधकांत सहाय ने किया है। वह बिहार मंडप को भी देखने गए।
 सिन्हा ने कहा कि बिहार में खाद्य प्रसंस्करण एवं कृषि उत्पाद की अनेक संभावनाएं हैं। राज्य 50 लाख टन धान. 20 लाख टन मक्का का उत्पादन करता है और सब्जी उगाने में तीसरे स्थान पर है जबकि फल उत्पादन में सातवें स्‍थान पर। इसके अलावा लीची, केला और आम इसके विशिष्ट फल हैं। उन्होंने कहा कि देश की 55 प्रतिशत लीची बिहार में फलती है और वैशाली एवं भागलपुर में 10 लाख टन केले का उत्पादन होता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बिहार में बनेंगे फूड पार्क और फूड जोन