अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मऊ में मुक्त कराये गये चार बाल मजदूर

सहायक श्रमायुक्त पंकज सिंह राना के नेतृत्व में मंगलवार को दुबारी, बनियापार मोड़ और कटघरा शंकर में आटो पाट्र्स एवं मिठाई की दुकान पर छापेमारी कर वहां काम कर रहे चार बच्चों को मुक्त कराया गया। छापेमारी के दौरान मची अफरातफरी में तमाम दुकानदार शटर गिराकर भाग निकले।

पकड़े गए बच्चे बलिया और मऊ जिलों के हैं जिन्हें राजकीय बालगृह आजमगढ़ भेज दिया गया। सदर, घोसी और मधुबन तहसीलों में चलाए गए अभियान में अब तक 15 बच्चे मुक्त कराए जा चुके हैं।

जिले में बालश्रम पर प्रतिबंध लगाने के लिए चलाये गये अभियान के तहत सहायक श्रमायुक्त पंकज सिंह राना के नेतृत्व में मंगलवार को मधुबन कस्बे के दुबारी, बनियापार मोड़ और कटघरा शंकर में छापेमारी की गयी। इन स्थानों पर आटो पार्ट्स और मिठाई की दुकान पर कार्य करते हुए चार बच्चों को पकड़ा गया। मुक्त कराये गये बच्चों में उमेश राजभर निवासी बहुरवा थाना उभांव जिला बलिया व मऊ जिले के मधुबन के ही आसपास के क्षेत्र के अभिलेश, सुफियान और शाहिल शामिल हैं।

इन बाल मजदूरों को सहायक श्रमायुक्त ने नगर मजिस्ट्रेट जितेन्द्र कुमार के समक्ष पेश किया जिन्होंने बच्चों को राजकीय बालगृह आजमगढ़ भेज दिया। छापेमारी के दौरान दुकानदार अपनी दुकानों को बंद कर भाग खड़े हुए।

सहायक श्रमायुक्त के मुताबिक सदर, घोसी और मधुबन तहसील में अब तक कुल 15 बच्चों को मुक्त कराया जा चुका है। उन्होंने बताया कि अभियान तब तक जारी रहेगा जब तक की दुकानों पर काम करने वाले बाल श्रमिकों को मुक्त नहीं करा लिया जाता।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मऊ में मुक्त कराये गये चार बाल मजदूर