अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कम बारिश से प्रभावित हो सकती है धान की रोपाई

कम बारिश के कारण पंजाब एवं हरियाणा में इस साल धान की रोपाई कम रहने का अनुमान है और धान का कुल क्षेत्र पिछले साल के बराबर शायद ही पहुंच पाए।  यह अलग बात है कि धान की रोपाई अभी अगस्त के पहले सप्ताह तक जारी रहेगी।

पंजाब कृषि विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, धान का कुल क्षेत्र पिछले साल के स्तर को नहीं पहुंचेगा लेकिन इसके 27 लाख हेक्टेयर रहने की संभावना है। 
 

विशेषज्ञों का कहना है कि आमतौर पर धान की रोपाई जुलाई के अंत तक पूरी हो जाती है कि लेकिन बारिश की कमी के चलते किसान अगस्त के पहले हफ्ते तक रोपाई जारी रखेंगे।
 

केंद्रीय पूल में पंजाब 35 प्रतिशत चावल का योगदान करता है। राज्य में इस सत्र में धान का रोपाई क्षेत्र 27 लाख हेक्टेयर रहने का अनुमान है जो पिछले सत्र में 27.35 लाख हेक्टेयर रहा था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कम बारिश से प्रभावित हो सकती है धान की रोपाई