DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कुएं में 11 घंटे, जहरीले सांपों के साथ रहा किसान

जाको राखे साईयां मार सके न कोय की कहावत रविवार की रात नागपंचमी के अवसर पर यहां के ग्राम गलगली में उस समय चरितार्थ हो गयी, जब रतौंधी (रात को दिखाई न देना) से पीड़ित एक 50 वर्षीय किसान एक कुएं में गिर गया, जहां वह ग्यारह घंटे जहरीले सांपों के बीच रहकर भी जीवित बच गया।

किसान को सोमवार की सुबह कुएं से बाहर निकाल कर ग्रामीणों ने उपचार के लिये जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया।

जिला अस्पताल में घायल किसान को इलाज कराने लाये परिवार वालों ने घटना के बारे में बताया कि वाराय थाना क्षेत्र के गांव गलगली निवासी रामनाथ पटेल रविवार की सायं अपनी ससुराल रामगढ़ से बैल लेकर अपने गांव आ रहा था। इस बीच गांव पहुंचने के लगभग एक किलोमीटर पहले ही हल्की वर्षा होने लगी जिसके कारण बैल भागने लगे। उनका पीछा करते हुए रामनाथ एक कुएं में गिर गया।

वह चिल्लाता रहा लेकिन रात होने की वजह से वहां आसपास कोई नहीं था । इसलिए कोई उसकी आवाज नहीं सुन पाया ।

कुएं में पानी नहीं था जिसमें वह रातभर खड़ा रहा । सोमवार की सुबह जब कुछ लोगों का आना—जाना शुए हुआ तब रामनाथ के चिल्लाने की आवाज आई । उन्होंने रस्सी से उसे बाहर निकाला ।

कुएं के पास जमा भीड़ ने देखा कि कुएं में कई जहरीले सांप फुफकार मार रहे थे, पर किसी ने उसे डसा नहीं । चोट से पीड़ित रामनाथ पटेल को ग्रामीणों की सहायता से उसके परिवार वालों ने जिला अस्पताल में भर्ती कराया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कुएं में 11 घंटे, जहरीले सांपों के साथ रहा किसान