DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दामोदर वैली बनी डियर पार्क के लिए परेशानी का सबब

दामोदर वैली कारपोरेशन (डीवीसी) के चंद्रपुरा और मैथन संयंत्र की उर्जा क्षमता को बढ़ाने की योजना से डीवीसी द्वारा संचालित हिरणों के दो उद्यानों को कहीं और स्थानान्तरित किया जा सकता है।
    

निदेशक (मादा संरक्षण एवं वनरोपण) संजय कुमार ने बताया कि चंद्रपुरा थर्मल पॉवर स्टेशन के निकट चंद्रपुरा हिरण उद्यान को करीब 25 वर्ष पहले स्थापित किया गया था। इस उद्यान में हिरणों की संख्या 52 के करीब है। लेकिन चंद्रपुरा थर्मल पॉवर स्टेशन के विस्तार के चलते हिरण उद्यान को बंद करना पड़ सकता है।
    

डीवीसी को विस्तार योजना के तहत सात से आठ एकड़ जमीन की आवश्यकता है। जिसे हिरणों ने घेर रखा है।
कुमार ने बताया कि संयंत्र से निकलने वाली आवाजें और प्रदूषण को देखते हुए झारखण्ड वन विभाग से बात करने के बाद संवेदनशील हिरणों को हजारीबाग राष्ट्रीय उद्यान भेजा जा सकता है।

 

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:दामोदर वैली बनी डियर पार्क के लिए परेशानी का सबब