अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उमर अब्दुल्ला ने राज्यपाल को इस्तीफा सौंपा

उमर अब्दुल्ला ने राज्यपाल को इस्तीफा सौंपा

जम्मू कश्मीर के मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने पीडीपी के एक वरिष्ठ नेता द्वारा उन पर 2006 के सेक्स कांड में शामिल होने का गंभीर आरोप लगाने के बाद प्रदेश के राज्यपाल को जम्मू कश्मीर के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा सौंप दिया है।

इससे पहले आरोपों से आहत उमर अब्दुल्लाह ने मंगलवार को सदन में इस्तीफे की पेशकश की थी जबकि सीबीआई ने कहा कि सेक्स कांड में उमर का नाम कभी था ही नहीं।

उमर अब्दुल्ला ने सदन में कहा कि मैं जानता हूं कि यह एक झूठा दोषारोपण है। लेकिन जब तक मुझपर किया गया यह झूठा दोषारोपण साफ नहीं हो जाता, तब तक के लिए मैं अपना इस्तीफा देना चाहता हूं। जब तक मैं निर्दोष साबित नहीं हो जाता, मैं काम नहीं कर सकता। यह मेरे चरित्र पर कलंक है।

उमर अब्दुल्ला द्वारा राज्य विधानसभा में दिए इस बयान से उनकी पार्टी के विधायक और मंत्री सकते में आ गए। उमर ने कहा कि जब तक गृह विभाग की किसी जांच से मदद नहीं मिलेगी। तब तक मैं खुद को निर्दोष साबित करने में सक्षम हूं। मैं राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंंपने जा रहा हूं।

पार्र्टी विधायकों और मंत्रियों ने उमर को रोकने की कोशिश की और कहा कि वह इस्तीफा नहीं दें और पार्टी उनका इस्तीफा मंजूर नहीं करेगी। उमर अब्दुल्ला की पार्टी के सदस्यों और मंत्रियों ने उन्हें जबरन कुर्सी पर बिठाने की कोशिश की, लेकिन बावजूद इसके वह अपनी कुर्सी से उठ खड़े हुए और चिल्लाते हुए कहा कि मुझे यह कदम उठाने दीजिए।

इस पूरे नाटकीय घटनाक्रम की शुरुआत तब हुई जब पीडीपी नेता और पूर्व उप मुख्यमंत्री मुजफ्फर बेग ने अब्दुल्ला पर बहुचर्चित कश्मीर सेक्स कांड में शामिल होने का आरोप लगाया।

बेग ने दावा किया कि उनके पास उन लोगों की सूची है जो सेक्स कांड में शामिल हैं और इस सूची में अब्दुल्ला का नाम भी शामिल है। बेग ने कहा, मुझे खेद के साथ कहना होगा कि सूची में फारूक अब्दुल्ला के बेटे उमर अब्दुल्ला का नाम है। उन्होंने राज्य पर शासन करने की नैतिक जिम्मेदारी खो दी है। उन्हें इस्तीफा देना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:उमर अब्दुल्ला ने राज्यपाल को इस्तीफा सौंपा