अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चीन से संबंध 21वीं सदी की दिशा निर्धारित करेंगेः ओबामा

चीन से संबंध 21वीं सदी की दिशा निर्धारित करेंगेः ओबामा

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि अमेरिका-चीन संबध 21वीं सदी की दिशा निर्धारित करेंगे। उन्होंने दोनों देशों के बीच रिश्तों को और मजबूत बनाने का आह्वान किया।

ओबामा ने सोमवार को दोनों देशों के बीच वाशिंगटन में चल रही दो दिवसीय रणनीतिक और आर्थिक मसलों पर बातचीत के दौरान कहा कि अमेरिका और चीन के बीच गहरे और मजबूत संबंध 21वीं सदी को दिशा देंगे। दोनों देशों के बीच जारी यह बातचीत विश्व के अन्य द्विपक्षीय वार्ताओं की तरह महत्वपूर्ण है। ओबामा ने कहा कि हम जलवायु परिवर्तन, सुरक्षा और अर्थव्यवस्था जैसे परस्पर हित के मुद्दो तथा परमाणु हथियार से संपन्न उत्तर कोरिया से कैसे निपटा जाए इस पर बात करेंगे और हमारा रास्ता टकराव के बजाय सहयोग का होगा।

उन्होंने कहा कि हम चीन की प्राचीन संस्कृति और उसकी उल्लेखनीय उपलब्धियों का सम्मान करते हैं तथा हम यह भी विश्वास करते हैं कि सभी लोगों के धर्म और संस्कृतियों का सम्मान तथा संरक्षण किया जाएगा। सभी लोगों को इच्छानुसार बोलने का अधिकार होगा। दोनों देशों के बीच जारी यह वार्ता जार्ज बुश प्रशासन के दौरान बीजिंग में हुई आर्थिक संबधों को लेकर बैठक का विस्तार है।

ओबामा ने उत्तर कोरिया के परमाणु हथियार कार्यक्रम की तरफ इशारा करते हुए चीन से अपील की वह अमेरिका के साथ परमाणु प्रसार को रोकने में मदद करे। उन्होंने कहा कि अमेरिका और चीन को कोरियाई प्रायद्वीप को परमाणु हथियार मुक्त बनाने के लिए अपना सहयोग जारी रखना चाहिए।

उन्होंने कहा कि वैश्विक आर्थिक मंदी ने यह दिखा दिया है कि दोनों देशों के फैसलों का एक दूसरे पर क्या असर पड़ता है। अमेरिका और चीन के बीच जारी यह बातचीत अर्थव्यवस्था को मंदी से उबारने के लिए मददगार हो सकती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:चीन से संबंध 21वीं सदी की दिशा निर्धारित करेंगेः ओबामा