DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुसीबतों का इंद्रधनुष!

बारिश के बाद अगली सुबह है। मैं ऑफिस के लिए घर से निकला हूं। कुछ दूरी पर ही बर्बादी का ट्रेलर दिखने लगा है। नालियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। गटरों में हाई टाइड है। ये देख लोगों की हवा टाइट है। सड़क की हालत पर गश खा कुछ पेड़ सड़क पर ही गिरे पड़े हैं। यहां-वहां लटकते लैम्प पोस्ट मानो उनके दुख में शरीक हो रहे हैं। वहीं गंदे पानी पर तैरते रंग-बिरंगे पॉलिथीन सड़क को इंद्रधनुषी लुक दे रहे हैं।
दोनों ओर से लबलबाती नालियों ने सड़क को पूरी तरह आगोश में ले लिया है। ये बताना मुश्किल है कि सड़क कहां है और सड़क केपासपोर्ट में पहचान चिह्न् के रूप में दर्ज, स्थायी गड्ढे कहां! ऐसे ही एक छुपे रुस्तम गड्ढे से अनजान शख्स बाइक सहित उसमें धंस जाता है। तभी सड़क क्रॉस करने की कोशिश में एक कैब उसके आगे आ जाती है। उधर, कैब के सामने ब्लूलाइन बस आ जाती है। स्थिति का फायदा उठा लोहे के एंगल हवा में लहराता एक हाथ रिक्शा वहां से निकलता है। एंगल की दहशत से लोग गाड़ियां पीछे करते हैं और पीछे खड़ी गाड़ी से टकरा जाते हैं। अगले दस मिनट तक वो एक-दूसरे के परिजनों को याद कर गुस्से का इजहार करते हैं।
देखते ही देखते वहां मिनी गृहयुद्घ के हालात बनने लगते हैं। लोगों की जुबान से भी लम्बा ट्रैफिक जाम लग जाता है। सामने वाले की गर्दन समझ गाड़ियों के हॉर्न जोर-जोर से दबाए जाने लगते हैं। हवा में गूंजते बीसियों बेसुरे हॉर्न और लहराती गालियां कोरस में मानो यमराज को न्योता देती हैं। आप समझ जाते हैं कि आपका वक्त आ गया। तभी आपके हाथ से गाड़ी का हैंडल फिसलता है, जूते में गंदा पानी घुसता है।
 हॉर्न की आवाज पर भी यमराज नहीं आ रहे और आप सोचते हैं कि क्यों न इसी जूते के पानी में डूब कर अपनी जान दे दूं या फिर जूता उतार वहां खड़े लोगों को दे मारूं। वैसे भी उसे भिगोने की जरूरत नहीं है।
जो बारिश दिल के तार छेड़ती है, वही नकारा निगम की बदौलत व्यवस्था को तार-तार कर रही है। बिना डूब मरे ही नर्क का अहसास करवा रही है। अच्छा होता कि मैं मोटरसाइकिल की जगह मोटरबोट फाइनेंस करवा लेता। बारिश के लिए लाख तड़पता पर उसकी दुआ न मांगता। एक हाथ से बाइक संभाल और दूसरे को आसमान की तरफ उठा मजबूर इंसान यही दुआ मांगता है कि हे प्रभु! बारिश के साथ मुसीबतों का भार भी देना है तो बेहतर होगा कि नगर निगम का प्रभार भी तुम ही संभाल लो।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुसीबतों का इंद्रधनुष!