DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अरिहंत का अवतरण

तीस साल से यह एक राज था, जो अक्सर खंडन की शक्ल में ही दिखता था। भारत परमाणु पनडुब्बी बना रहा है इस बात को तीस साल सेभी ज्यादा समय तक छुपाए रखा गया। दिल्ली में किसी भी दल की सरकार रही हो, उसने हमेशा ही ऐसी किसी भी परियोजना के अस्तित्व से ही इनकार किया। आज जब यह परमाणु पनडुब्बी आईएनएस अरिहंत का अवतरण हो गया है तो हमें एक बार उसे बनाने वाले वैज्ञानिकों के साथ ही उस राजनीति को भी सलाम कहना चाहिए, जिसे भले ही गैरजिम्मेदारी भरे विवाद पैदा करने का गुनहगार माना जाता हो, लेकिन इस मसले की गोपनीयता को उसने पूरी जिम्मेदारी से निभाया। इस पनडुब्बी का अवतरण ऐसे समय में हुआ, जब भारत एक परमाणु ताकत के रूप में मान्यता हासिल कर चुका है। मान लीजिए यही काम दो साल पहले हुआ होता तो इतना हो-हल्ला मचता कि भारत-अमेरिका परमाणु समझोता खटाई में पड़ सकता था। बहरहाल, तीस साल और लगभग तीस हजार करोड़ रुपए के खर्च के बाद जो मेहनत रंग लाई है उसने भारत को दुनिया की छठी ऐसी ताकत बना दिया है, जिसके पास अपनी परमाणु पनडुब्बी है।

पहले सोवियत संघ और फिर रूस के सहयोग से बनी यह परमाणु पनडुब्बी एक तरह से भारत के रक्षा सिद्धांत (डिफेंस डॉक्टरिन) काविस्तार भी है। भारत ने हमेशा ही इस सोच का खंडन किया है कि उसकी रक्षा की सारी तैयारियां पाकिस्तान को ध्यान में रखकर होती हैं।भारत ने हमेशा से ही यह कहा है कि वह अपनी तैयारियां अपने आकार और अपनी जरूरतों के हिसाब से करता है। परमाणु पनडुब्बी जैसी रक्षा-व्यवस्था की जरूरत इसलिए भी है कि भारत की समुद्री सीमा बहुत बड़ी है और इसलिए भी कि दुनिया की एक बड़ी आर्थिक महाशक्ति बनने के बाद से उसकी रक्षा जरूरतें बढ़ी हैं। फिर यह ऐसा क्षेत्र है, जिसमें पाकिस्तान कहीं दूर-दूर तक नहीं है। अरिहंत के अवतरण के मौके पर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने भारत की दूसरी डिफेंस डॉक्टरिन का जिक्र भी किया कि भारत की सारी तैयारियां किसी पर हल्ला बोलने के लिए नहीं, बल्कि अपनी रक्षा करने के लिए हैं। वैसे अरिहंत में शीथ तकनीक का इस्तेमाल किया गया है जिसके चलते इसे किसी भी तरह के राडार पर पकड़ा नहीं जा सकता, इसकी वजह से यह किसी भी तरह के हमले से बच सकती है और जोरदार जवाबी हमला बोल सकती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अरिहंत का अवतरण