DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वृद्धि दर 6.5 फीसदी रहेगी: आरबीआई

वृद्धि दर 6.5 फीसदी रहेगी: आरबीआई

आरबीआई ने चालू वित्त वर्ष के दौरान वृद्धि दर 6.5 फीसदी रहने का संशोधित अनुमान जाहिर किया है। केंद्रीय बैंक ने कहा कि अप्रैल के अनुमान के मुकाबले हालात थोड़े बेहतर हैं हालांकि स्थिति अभी अच्छी नहीं है कि वैश्विक स्थिति में सुधार को प्रेरित कर सके।

आरबीआई के पेशेवरों के बीच कराए गए सर्वे में अप्रैल में आर्थिक वृद्धि दर 5.7 फीसदी रहने का अनुमान जाहिर किया गया था लेकिन जून के आंकड़े से लगता है कि आर्थिक गतिविधि की रफ्तार बढ़ी है। यह अनुमान आरबीआई के तहत आर्थिक रपट का हिस्सा है जिसमें कहा गया है कि वित्त वर्ष 2010 तक की पहली तिमाही में वैश्विक वित्तीय हालात में सुधार के संकेत जरूरी हैं लेकिन वैश्विक स्थिति में सुधार के लिए पर्याप्त नहीं हैं।

केंद्रीय बैंक का अनुमान ऋण नीति की तिमाही समीक्षा से एक दिन पहले आया है। रिजर्व बैंक ने कहा कि थोक मूल्य आधारित मुद्रास्फीति बेस इफेक्ट के कारण 11 जुलाई को शून्य से 1.2 फीसदी नीचे थी जबकि ज्यादातर जिंसों की कीमतों में तेज बढ़ोतरी हुई।

आरबीआई ने कहा कि उपभोक्ता मूल्य सूचकांक पर आधारित मुद्रास्फीति साल दर साल के आधार पर मई-जून 2009 के दौरान 8.6 से 11.5 फीसदी के दायरे में रही जबकि मार्च में यह 8-9.7 फीसदी थी। बैंक ने कहा कि वाहन ईंधन के मूल्यों में बढ़ोतरी से मंहगाई बढ़ रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:वृद्धि दर 6.5 फीसदी रहेगी: आरबीआई