अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खिलौनों के बाद चीन निर्मित चाकलेट पर भी प्रतिबंध

खिलौनों के बाद चीन निर्मित चाकलेट पर भी प्रतिबंध

चीनी खिलौनों को स्वास्थ्य के लिए हानिकारक मानते हुए उन पर प्रतिबंध लगाए जाने के बाद अब चीन निर्मित चाकलेट, कैंडी, टाफियों और सभी प्रकार के कनफैक्शनरी उत्पादों के आयात पर पूरी तरह प्रतिबंध लगा दिया गया है।

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री आनंद शर्मा ने सोमवार को लोकसभा में इस मुद्दे पर एंटो एंटनी तथा भर्तहरि महताब एवं कुछ अन्य सदस्यों द्वारा गंभीर चिंता जाहिर करते हुए उठाए गए सवालों के जवाब में बताया कि सितंबर 2008 में चीन निर्मित सभी डेयरी उत्पादों पर लगाए गए प्रतिबंध को आगे बढ़ाते हुए अब इसमें चाकलेट, कैंडी, लालीपाप, टाफियों तथा सभी प्रकार के कनफैक्शनरी उत्पादों को भी शामिल कर लिया गया है।

उन्होंने कहा कि सरकार को बताया गया कि चीन से संक्रमित डेयरी उत्पादों का भारत में आयात किया जा रहा है जो स्वास्थ्य के लिए बेहद हानिकारक हैं। शर्मा ने बताया कि सरकार ने इन रिपोर्टो के आधार पर सितंबर 2008 में चीन निर्मित सभी डेयरी उत्पादों को प्रतिबंधित कर दिया था।

वाणिज्य मंत्री ने साथ ही बताया कि चीन निर्मित खिलौनों के आयात पर प्रतिबंध लगाए जाने के खिलाफ चीन विश्व व्यापार संगठन में भारत की शिकायत लेकर गया था जहां भारत ने कहा  कि चीन समेत किसी भी देश से केवल अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा मानदंडों का इस्तेमाल करने वाले और आईएसओ 8124 मार्क वाले खिलौनों का ही देश में आयात किया जाएगा।

शर्मा ने बताया कि चीन मार्च 2009 और जून 2009 में विश्व व्यापार संगठन में गया और भारत द्वारा लगाए गए प्रतिबंध को संगठन के नियमों का उल्लंघन बताया। भारत ने वहां स्पष्ट किया कि उसने बच्चों के स्वास्थ्य तथा सुरक्षा के मद्देनजर चीनी खिलौनों पर प्रतिबंध लगाया है।

उन्होंने बताया कि इसके बाद स्थिति की समीक्षा की गयी तथा इस निष्कर्ष पर पहुंचा गया कि निर्धारित मापदंडों को पूरा करने वाले खिलौनों का ही भारत आयात करेगा।

वाणिज्य मंत्री ने बताया कि भारत चीन निर्मित बिना आईईएमआई नंबर वाले मोबाइल फोन पर पहले ही इसी माह में प्रतिबंध लगाने की घोषणा कर चुका है। उन्होंने बताया कि यह कदम देश की सुरक्षा के मद्देनजर उठाया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:खिलौनों के बाद चीन निर्मित चाकलेट पर भी प्रतिबंध