अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हरियाणा करेगा ऑर्गेनिक चावल का निर्यात

हरियाणा जल्द ही अमेरिका सहित अन्य यूरोपिय देशों में ऑर्गेनिक राइस का निर्यात करेगा। इसके लिए हरियाणा स्टेट को-आपरेटिव सप्लाई एंड मार्केटिंग फेडरेशन (हैफेड) और टेक इंटरनेशनल कंपनी के बीच करार हो चुका है। अगले एक वर्ष में हैफेड की योजना 240-400 मीट्रिक टन आर्गेनिक चावल के निर्यात की है। इसके लिए हरियाणा सरकार ने केन्द्र को प्रस्ताव भेज दिया है। गुड़गांव में एक कार्यक्रम में शरीक होने पहुंचे हैफेड के चेयरमैन अशोक वर्मा ने विशेष बातचीत में दी।

चेयरमैन ने कहा कि ऑर्गेंनिक खेती में किसानों का झुकाव बड़ा है। वर्तमान में छह हजार एकड़ में इसकी खेती की जा रही है। इससे लगभग 16 हजार किसाने जुड़े हुए है। इससे कई अमेरिकी कंपनियों ने चावल की खरीददारी में रूचि दिखाई है। उन्होंने कहा कि सीएम ने इस ओर विशेष ध्यान दिया है। ताकि अधिक विदेशी म्रुदा का अधिक से अधिक अर्जन हो सके। चावल निर्यात के लिए फिलहाल मानेसर की टेक इंटरनेशनल कंपनी को तीन माह के लिए तीस सौ मीट्रिक टन चावल निर्यात करने का लक्ष्य दिया गया है।

चेयरमैन वर्मा ने बताया कि हैफेड, गेहू और चावल के टेस्ट के लिए तीन करोड़ की लागत से लैब स्थापित कर रहा है। अभी तक हैफेड का लैब न होने से किसानों को अपने उत्पाद का टेस्ट कराने में समस्या आ रही थी। उन्होनें बताया कि इसके निर्माण से किसानों को काफी राहत मिलेगी। हैफेड की ओर से उत्पादों की गुणवत्ता को बनाए रखने के लिए कई कदम उठाए जा रहे है।

इनसेट- ऑर्गेनिक खेती में किसानों द्वारा रासायनिक खाद और कीटनाशकों का प्रयोग नाम मात्र के लिए भी नहीं किया जाता है। इसमें हरी या कंपोस्ट खाद का प्रयोग किया जाता है। इससे पैदा किए फल-सब्जी और चावल की कीमत काफी मंहगी होती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हरियाणा करेगा ऑर्गेनिक चावल का निर्यात