अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छेड़खानी के लिए हर हफ्ते जुर्माना भरते थे बिहारी बाबू

छेड़खानी के लिए हर हफ्ते जुर्माना भरते थे बिहारी बाबू

अपनी दमदार आवाज और अनूठे अंदाज में हीरोइनों से चुहलबाजी के कई यादगार दृश्य करने वाले मशहूर अभिनेता सह राजनेता शत्रुघ्न सिन्हा अपने छात्र जीवन में भी कुछ ऐसे रंगीले थे कि कॉलेज के दिनों में लड़कियों को छेड़ने के चलते लगभग हर हफ्ते उन्हे 25 रुपये का जुर्माना भरना पड़ता था।

‘बिहारी बाबू’ के उपनाम से मशहूर सिन्हा ने एक कार्यक्रम के दौरान अपने संस्मरण सुनाते हुए कहा कि साठ के दशक में जब वे पटना के मशहूर साइंस कॉलेज के छात्र थे तो उन्हे पढ़ने की बजाय किसी और वजह से अधिक जाना जाता था। अमूमन हर हफ्ते उनका नाम नोटिस बोर्ड और लड़कियों के कामन रूम के सामने चिपकाया जाता था।

उन्होंने ठहाकों के बीच कहा कि अब यहां माताएं भी उपस्थित हैं, इसलिए मैं लड़कियों के बारे में खुल कर कुछ नहीं कहूंगा पर मुझे अब तक याद है कि कॉलेज में हर हफ्ते मुझ पर 25 रुपये का जुर्माना लगता था। मेरे नाम से अंग्रेजी में लिखी गई जुर्माने की इस नोटिस को अन्य स्थानों के साथ ही साथ लड़कियों के कामन रूम के सामने भी चिपका दिया जाता था। इसमें मुझे सुधरने की ताकीद के साथ कॉलेज से निकालने की चेतावनी भी दी गई होती थी।

अभिनय के बाद राजनीति में भी सफलता पूर्वक हाथ आजमाने वाले मौजूदा सांसद सिन्हा ने मजाकिया लहजे में कहा कि उनके पिता उन्हें भी उनके तीन अन्य भाईयों की तरह खूब पढ़ा लिखा कर डॉक्टर बनाना चाहते थे, पर वह कंपाउंडर भी नहीं बन सके। उन्होंने कहा कि अलबत्ता मैं कभी देश का स्वास्थ्य मंत्री जरूर बन गया।

अभिनय तथा संवाद अदायगी के अपने निराले अंदाज से सत्तर के दशक में खलनायकों के चरित्र को नायकों पर भी भारी साबित कर देने वाले सिन्हा ने ‘कालीचरण’ और ‘विश्वनाथ’ जैसी जबरदस्त हिट फिल्मों समेत दो सौ से अधिक फिल्मों में काम किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:छेड़खानी के लिए हर हफ्ते जुर्माना भरते थे बिहारी बाबू