अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पंचायत चुनाव का बिगुल

- 2010 में कराए जाएंगे त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव

- 24 दिसंबर को प्रकाशित होंगी मतदाता सूचियां

लोकसभा चुनाव निपटे अभी कुछ ही समय हुआ है कि अफसरों को अब त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की तैयारियों में जुटा दिया गया है। प्रधान, वीडीसी और जिला पंचायत के इलेक्शन 2010 में कराए जाने हैं और निर्वाचन आयोग ने तैयारियां अभी से शुरू कर दी हैं। फिलहाल प्रशासनिक मशीनरी मतदाता सूचियों के पुनर्निरीक्षण में जुटी है। इस पांच सौ से अधिक कर्मचारी और अधिकारियों को जुटाया गया है।
पिछले पंचायत चुनाव 2005 में कराए गए थे। उस समय चुने गए प्रतिनिधियों का कार्यकाल 2010 में खत्म हो रहा है। इसे देखते हुए राज्य निर्वाचन आयुक्त(पंचायत) राजेन्द्र भोनवाल सभी जिलाधिकारियों को चुनावी तैयारियों के सिलसिले में निर्देश जारी कर दिए हैं।


एडीएम प्रशासन सतीश कुमार ने बताया कि पंचायत चुनाव की तैयारियों के क्रम में सबसे पहला काम मतदाता सूचियों के पुनर्निरीक्षण का कराया जा रहा है। इस काम को पूरा करने के लिए 460 बीएलओ लगाए जा रहे हैं, जो घर-घर जकर वोटर लिस्ट का सर्वे करेंगे। सूची में 18 साल की उम्र पूरी कर चुके लोगों के नाम शामिल किए जाएंगे। बीएलओ के काम पर नजर रखने के लिए 80 सुपरवाइजर भी तैनात किए जा रहे हैं, जो एडीओ स्तर के अफसर होंगे। बीएलओ की जिम्मेदारी लेखपाल, सींचपाल, किसान सहायक और प्राइमरी के शिक्षकों को दी जा रही है।
सव्रे का काम 30 सितंबर तक पूरा कर लिया जाएगा। 30 अक्टूबर तक कम्यूटर फीडिंग कर ली जाएगी। मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन 24 दिसंबर को कराया जाएगा। एडीएम ने बताया कि यदि कोई बीएलओ या सुपरवाइजर बिना मौके पर जाए सर्वे दिखाता मिलेगा, तो उसे तुरंत सस्पेंड कर एफआईआर दर्ज करा दी जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पंचायत चुनाव का बिगुल