अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुख्यमंत्री ने काम में तेजी लाने निर्देश दिया

राष्ट्रमंडल खेलों के आयोजन में अब 15 महीने का समय बचा है।  दिल्ली सरकार के लिए समय पर सारे कार्य को पूरा करना एक चुनौती है। दिल्ली में इंफ्रास्ट्रक्चर, परिवहन, सड़क, सौंदर्यीकरण, आदि हर क्षेत्र में राष्ट्रमंडल खेलों तक कार्य करना है। इनमें से कई परियोजनाओं पर काम चल रहा है, जबकि कई कार्य अभी तक शुरू भी नहीं हुए है। राष्ट्रमंडल खेलों की तैयारी की समीक्षा पर शनिवार को दिल्ली सरकार मंत्रिमंडल की बैठक हुई।


मुख्यमंत्री शीला दीक्षित की अध्यक्षता में हुई बैठक में मंत्रिमंडल के सहयोगियों के अलावा विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारी भी शामिल हुए। गौरतलब है कि लोक निर्माण विभाग के अधीन मुख्य रूप से 22 बड़ी परियोजनाएं हैं। जिनमें फ्लाइओवर, ओवर ब्रिज, अंडरपास, क्लोवर लीफ आदि का निर्माण शामिल है। इसके अलावा सड़कों का चौड़ीकरण, सौंदर्यीकरण, स्ट्रीट स्केपिंग, स्ट्रीट लाइट, साईनेज आदि कई कार्यो को खेलों से पहले विभाग को पूरा करना है। इसी तरह स्वास्थ्य विभाग को अस्पतालों को तैयार करना है और स्टेडियम में पॉलिक्िलनिक की स्थापना करनी है। सबसे बड़ी चुनौती खेलों के दौरान परिवहन व्यवस्था को चुस्त-दूरूस्त रखना है। परिवहन विभाग और डीटीसी की योजनाओं को कई योजनाओं को अमलीजमा पहनाना है। इसी तरह की परियोजना एमसीडी और एनडीएमसी के अधीन हैं, जिन्हें पूरा करने की जिम्मेदारी उनके पास है।


सूत्रों के मुताबिक मंत्रिमंडल ने लोक निर्माण विभाग, परविहन विभाग, स्वास्थ्य विभाग, एमसीडी, एनडीएमसी व अन्य विभागों से जुड़ी सारी परियोजनाओं की समीक्षा की। अब तक हुए कार्य और आगे होने वाले कार्यो पर विचार किया गया। सूत्रों के मुताबिक राष्ट्रमंडल खेलों में जितना समय बचा है, उसके अनुपात में समय कम होने पर चिंता जहिर की और युद्ध स्तर पर कार्य करने पर बल दिया। दीक्षित ने सभी विभागों को काम में तेजी लाने और समय पर कार्य पूरा करने का निर्देश दिया। उन्होंने सभी विभागों और विशेष कर सभी निकायों को आपस में तालमेल के साथ करने पर भी बल दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:मुख्यमंत्री ने काम में तेजी लाने निर्देश दिया