DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पॉवर ट्रांसफार्मर से लदा ट्राला रोहतक से रवाना

ट्रांसफार्मर से लदा ट्राला को लेकर एचवीपीएन अधिकारी बैचेन हैं। वे हर दिन फोन करके यह पता लगाते रहते हैं कि ट्राला कहां तक पहुंच गया है?


दरअसल, इस ट्रांसफार्मर के बीबीएमबी पॉवर हाउस में लगने के बाद ही फरीदाबाद में बिजली कटों से छुटकारा मिल पाएगा। इस ट्रांसफार्मर को लेने बिजली निगम के कनिष्ठ अभिंयता नरेश पंवार के नेतृत्व में 5 कर्मचारी गए हुए हैं। ट्रांसफार्मर से लदा ट्राला दिन के समय चलता है। जहां भी सड़क पर बिजली की लाइन पड़ती है, संबंधित सब-स्टेशन से बिजली की लाइन बंद करानी पड़ती है। इसके बाद ही वह ट्राला फरीदाबाद की ओर बढता है। ट्राला पर रखे ट्रांसफार्मर की ऊंचाई 17 फुट बताई गई है। रात के समय ट्राला सफर तय नहीं करता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पॉवर ट्रांसफार्मर से लदा ट्राला रोहतक से रवाना