DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बीसीसीआई ने गांगुली के आरोपों को नकारा

बीसीसीआई ने गांगुली के आरोपों को नकारा

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने पूर्व भारतीय कप्तान सौरभ गांगुली के उनके साथ बोर्ड द्वारा भेदभाव करने के आरोप को सिरे से खारिज कर दिया है।

बीसीसीआई के वित्त और मीडिया कमेटी के अध्यक्ष राजीव शुक्ला ने पूर्व कप्तान गांगुली के इस आरोप से साफ तौर पर इनकार करते हुए कहा कि बोर्ड किसी भी खास खिलाडी़ के साथ भेदभाव या फिर दोमुंहा नीति अपनाता है।

गौरतलब है कि गांगुली ने आरोप लगाया था कि बीसीसीआई ने उनके साथ भेदभाव किया था और इसी कारण उनमें कुछ और साल क्रिकेट बची होने के बावजूद उन्हें खेल को अलविदा कहना पडा़ था।

लेकिन शुक्ला ने गांगुली के आरोपों से इनकार करते हुए कहा, जहां तक बीसीसीआई की बात है तो हम किसी भी खिलाडी़ के खिलाफ पूर्वाग्रही नहीं हैं। खिलाडियों के चयन का अधिकार चयनकर्ताओं के पास होता है। चयनसमिति में पूर्व खिलाडी़ ही शामिल होते हैं और वहीं फैसला करते हैं कि किसे टीम में रखना है और किसी नहीं। उन्होंने कहा कि बीसीसीआई इस मामले में कोई हस्तक्षेप नहीं करता है और हमारे लिए सभी एक समान है और हम किसी के खिलाफ भेदभाव नहीं करते हैं।

गांगुली ने पिछले वर्ष अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया था। उन्होंने अपने समकालीन मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर और राहुल द्रविड के साथ खेलते रहने के एक सवाल के जवाब में कहा के अगर मैं खेल रहा होता तो मैं भी अच्छा प्रदर्शन करता लेकिन मुझे क्रिकेट को अलविदा कहना पडा़ क्योंकि बीसीसीआई ने अलग अलग खिलाडियों के अलग अगल नियम तय कर रखा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बीसीसीआई ने गांगुली के आरोपों को नकारा