DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आंदोलन को दबाने के लिए दमनात्मक कार्रवाई

भारतीय ट्रेड यूनियन केन्द्र (सीटू) की बिहार राज्य कमेटी के महासचिव अरूण कुमार मिश्रा ने राज्य में नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन(राजग) सरकार पर जन आंदोलनों को कुचलने का आरोप लगाया है। श्री मिश्रा ने कहा कि बिहार में करीब चार वर्षो से सत्तारूढ. राजग सरकार की बर्बता लगातार बढती जा रही है और वह सभी तरह के आंदोलनों को दबाने के लिए दमनात्मक कार्रवाई का सहारा ले रही है।

उन्होंने कहा कि शिक्षकों के खिलाफ हाल ही में हुए पुलिस लाठीचार्ज के बाद अत्यंत गरीब तबकों से आने वाले घरेलू नौकरों की कतिपय मांगों के पक्ष में कल निकाले गए जुलूस पर जिस बेरहमी से पुलिस ने लाठीचार्ज किया वह इसी की एक कडी़ है। इस घटना में दस से अधिक लोग घायल हुए हैं।

बिहार सीटू के महासचिव ने कहा कि बिहार की जनता ने जिस जनतांत्रिक अधिकार का इस्तेमाल कर नीतीश सरकार के हाथ में सत्ता सौंपी थी आज उसी जनता के जनतांत्रिक अधिकारों को कुचला जा रहा है। उन्होंने कहा कि उनकी संस्था इन कार्रवाईयों की कड़ी शब्दों में निंदा करती है और दोषी पुलिसकर्मियों को दंडित करने घायलों का समुचित इलाज सरकारी खर्च पर करने की मांग करती है।
 

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आंदोलन को दबाने के लिए दमनात्मक कार्रवाई