अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शर्त सहित पाक को सैन्य सहायता की मंजूरी

शर्त सहित पाक को सैन्य सहायता की मंजूरी

पाकिस्तान को दी जानी सैन्य सहायता का उपयोग वास्तव में केवल अलकायदा और तालिबान से लड़ने में सुनिश्चित किया जाए, इस संशोधन के साथ अमेरिकी सीनेट ने देश के रक्षा बजट को मंजूरी दे दी।

दोनों दलों द्वारा लाए गए इस संशोधन को डेमोक्रेट राबर्ट मेनेन्डेज और रिपब्लिकन बॉब कोरकर ने पेश किया। इसके अनुसार पाकिस्तान को सैन्य सहायता और क्लिंटन सहायता कोष से धन देने से पहले विदेश और रक्षा मंत्री को यह प्रमाण पत्र देना होगा कि यह देश के सुरक्षा हित के लिए आवश्यक है और इसके कारण क्षेत्र में शक्ति संतुलन प्रभावित नहीं होगा।

मेनेन्डेज ने कहा कि आठ वर्षों के दौरान करीब सात अरब डॉलर की अमेरिकी सहायता के बावजूद पाकिस्तानी सेना पाक-अफगान सीमा पर तालिबान और अलकायदा के फिर से संगठित होने से रोक नहीं पाई।

कोरकर ने कहा कि वह अपनी सीमा से आतंकवादियों के सफाए में महत्वपूर्ण भूमिका के लिए पाकिस्तान की सराहना करते हैं लेकिन इसके साथ ही यह भी आवश्यक है कि अमेरिकी करदाता आश्वस्त हों कि सैन्य सहायता का उपयोग दूसरी मदों में नहीं किया जाए।

मेनेन्डेज-कोरकर संशोधन ऐसे समय में सामने आया है, जब सांसदों में इस बात को लेकर आशंका बढ़ रही है कि पाकिस्तान अमेरिका से प्राप्त सैन्य सहायता का उपयोग भारत के खिलाफ सैनिक तैयारी के लिए कर रहा है।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शर्त सहित पाक को सैन्य सहायता की मंजूरी