DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आज की दुनिया का आईना बने यूएन: भारत

आज की दुनिया का आईना बने यूएन: भारत

विस्तारित सुरक्षा परिषद में स्थायी सदस्यता की मांग कर रहे भारत ने कहा है कि विश्व निकाय के शीर्ष अंग और अन्य नीति निर्धारक एजेंसियों में वास्तविक सुधार किया जाना चाहिए ताकि वे समकालीन यथार्थ को प्रतिबिंबित करे और व्यापक अत्याचार के खिलाफ कार्रवाई करने में सक्षम हो सकें।

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि हरदीप सिंह पुरी ने रक्षा की जिम्मेदारी पर चर्चा में हिस्सा लेते हुए ये बातें कही। संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने रक्षा की जिम्मेदारी के कार्यान्वयन के सबंध में एक रिपोर्ट पेश की है, जिसपर कल चर्चा हुई।

महासचिव की रिपोर्ट में कुछ घृणित घटनाओं की पड़ताल की गई है और उसपर कार्रवाई का प्राधिकार तय करने और उसके उपायों को रेखांकित किया गया है। पूरी ने कहा, यहां तक कि संयुक्त राष्ट्र की, खास कर सुरक्षा परिषद की निष्क्रियता के कारणों की सरसरी जांच से यह उजागर होता है कि समूचा विश्व जिन त्रासदीपूर्ण घटनाओं का साक्षी बना, उनमें निष्क्रियता किसी चेतावनी, संसाधन या राष्ट्रीय संप्रभुता के किसी अवरोध के कारण नहीं थी, बल्कि उन देशों के सामरिक, राजनीतिक या आर्थिक हितों के चलते हुई जिनपर मौजूदा अंतरराष्ट्रीय विन्यास ने कार्रवाई करने की जिम्मेदारी सौंपी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:आज की दुनिया का आईना बने यूएन: भारत