अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीनों बेटों की हत्या का आरोप पड़ोसी पर

मिल्हाड़ कालोनी में हुई दस वर्षीय संजय की हत्या के मामले में उसके पड़ोसी शक के घेरे में आ गए हैं। संजय की मां मोहन देई व पिता रामस्वरूप ने अपने पड़ोसी पर अपने दो बच्चों की हत्या और एक बेटे को गायब कराने का आरोप लगाया है। इनकी निशानदेही पर पुलिस ने बाप-बेटे को हिरासत में ले लिया है। उनसे पूछताछ जारी है। कहते हैं दोनों परिवारों के बच्चों में पांच साल पहले किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया था। तब से बच्चों के गायब होने और हत्या का सिलसिला जारी है।


रामस्वरुप के दो महीनों में दो बेटे मौत के शिकार हुए हैं। इसके चलते मोहन देई अपना होश-हवास खो बैठी है। कालोनी में भी सन्नाटा पसरा हुआ है। रामस्वरूप भी निढाल घर में पड़ा है। इनका कहना है कि उनका पड़ोसी ही उनके बच्चों के पीछे पड़ा है। पांच साल पहले हुए बच्चों के झगड़े के बाद से आज तक उनमें मनमुनाट बना हुआ है। इनका आरोप है कि पड़ोसी शिवचरण उसके बेटे सतीश, रामकुमार, दीपक, राहुल व पत्नी खजनो व बेटी गीता उन्हें लगातार धमकी देते रहे हैं। कई बार अपने रिश्तेदारों के साथ मिलकर उनपर हमला करवाने की कोशिश की। मोहन देई ने शिव चरण की बेटी गीता व उसकी मां खजनो पर दस दिन पहले धमकी देने का आरोप लगाया है। मंगलवार को खजनो ने उसके साथ लड़ाई भी की थी। बुधवार को उसका बेटा संजय गायब हो गया और गुरुवार को उसकी लाश मिली। शिवचरण के भाई रमेश पर तीनों बेटों के अपहरण व उनकी हत्या का आरोप लगाया है।
इनकी निशानदेही पर ही पुलिस शिवचरण व उसके बेटे सतीश को हिरासत में लेकर गुरुवार की रात से पूछताछ कर रही है। इधर, शिवचरण के घर पर ताला लगा हुआ है। घर के सदस्यों का कुछ पता नहीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:तीनों बेटों की हत्या का आरोप पड़ोसी पर