अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेमिनार में सरपंचों ने पढ़ा स्वच्छता का पाठ

स्वच्छता अभियान के तहत खण्ड विकास एवं पंचायत अधिकारी कार्यालय में सेमिनार का आयोजन किया गया। इसमें गांव के सरपंचों ने भाग लिया। इस मौके पर एडीसी वीएस हुड्डा ने बताया कि राज्यस्तरीय स्वच्छता प्रोत्साहन योजना के तहत खण्ड स्तर पर प्रथम आने पर दो, जिला स्तर पर पांच और राज्य स्तर पर प्रथम आने पर 20 लाख रुपये का पुरस्कार दिया जाएगा। राज्य स्तर पर द्वितीय पुरस्कार 15 लाख और तृतीय पुरस्कार दस लाख रुपये की राशि अपनी ग्राम पंचायत को दिलवा सकते हैं।


 इसके लिए खुले में शौच मुक्त ग्राम पंचायत, स्कूलों एवं आगंनवाड़ियों मे लड़के-लड़कियों के लिए अलग शौचालय एवं पेशाब घर होना अनिवार्य है। जो पंचायत खुले में शौच मुक्त नही हैं वे ईनाम पाने योग्य नहीं हैं। पंचायत में कोई भी बिजली बिलों का डिफाल्टर नहीं है तो उसके लिए भी ग्राम पंचायत को अंक मिलेंगे। ईनाम की योग्यता हासिल करने का फैसला अंकों के आधार पर होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सेमिनार में सरपंचों ने पढ़ा स्वच्छता का पाठ