DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूआईएन का हिस्सा बनना चाहती है माइक्रोसॉफ्ट: गेट्स

यूआईएन का हिस्सा बनना चाहती है माइक्रोसॉफ्ट: गेट्स

विशिष्ट पहचान पत्र योजना को एक महान शुरुआत करार देते हुए दुनिया की अग्रणी सॉफ्टवेयर कंपनी माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स ने शुक्रवार को कहा है कि इस महत्वाकांक्षी परियोजना में उनकी कंपनी भारत सरकार के साथ हिस्सेदार बनना चाहती है।

सूचना प्रौद्योगिकी कंपनियों के संगठन नेशनल एसोसिएशन ऑफ सॉफ्टवेयर एंड सर्विसेज कंपनीज (नास्कॉम) द्वारा आयोजित कार्यक्रम में कहा कि माइक्रोसॉफ्ट की इच्छा विशिष्ट पहचान पत्र योजना में हिस्सा लेने की है। उन्होंने कहा कि मैं इस परियोजना को लेकर काफी उत्साहित हूं। यह एक शानदार शुरुआत है। हमें यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि प्रत्येक आंकड़ा सही हो, एक मोबाइल फोन नंबर से लेकर किसी भी चीज के बारे में।

गेट्स ने कहा कि परियोजना के बारे में चर्चा के लिए वह नंदन नीलेकणी से शुक्रवार रात मुलाकात करेंगे। नीलेकणी विशिष्ट पहचान पत्र प्राधिकरण के प्रमुख हैं। गेट्स अपने फाउंडेशन की तरफ से शांति, निशस्त्रीकरण और विकास के क्षेत्र में काम करने के लिए इंदिरा गांधी शांति पुरस्कार ग्रहण करने दिल्ली आए हुए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:यूआईएन का हिस्सा बनना चाहती है माइक्रोसॉफ्ट: गेट्स