अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ढाबों व रेस्टोरेंट में अरहर में मिलाई जा रही मूंग की दाल

दाल रोटी खाओ प्रभु के गुण गाओ वाली कहावत अब बासी हो चली है। बढ़ती महंगाई के चलते बढे होटलों में खाना खाने वाले लोग अब शाही पनीर के साथ अरहर की दाल की डिमांड करने लगे हैं। थ्री स्टार होटलों में अरहर की दाल की एक प्लेट 60 रुपये की है तो रेस्टेरेंट व ढाबों पर इसकी कीमत 15 रुपये से 25 रुपये हैं। वहीं गरीबों का ढाबों से पांच रुपये की दाल खरीदकर रोटी खाने का सपना टूट चुका है। इतना ही नहीं नामी रेस्टोंरेंट में अरहर की दाल में थोड़ी मूंग की दाल डालकर उसे गढ़ा बनाया जा रहा है।


सरकार भले ही मंदी को दूर करने के लिए लाख दावे कर रही हो लेकिन स्थिति बड़ी ही विचित्र होती ज रही है। आलू, प्याज, टमाटर, लोकी, तौरी के रेट जहां आसमान छूते ज रहे हैे वहीं दाल ने सभी की कमर तोड़ दी है। सबसे ज्यादा रेट अरहर की दाल के हैं। बाजर में अरहर की दाल 80 से 100 रुपये प्रति किलो हैं। इसका सीधा असर ढाबों व रेस्टोरेंट पर पड़ रहा है। घरों में जहां खाने की थाली से अरहर की दाल गायब हो गई वहीं ढाबों पर इस दाल में कई अन्य रेशेदार दाल मिलाई ज रही है। इतनी ही नहीं एक प्लेट अरहर की दाल 25 रुपये की दी जा रही है। राजमा, उडद व मसूर की दाल अभी भी 15 रुपये प्लेट हैं। पुराना बस स्टैड़ पर शाकाहारी ढ़ाबा चलाने वाले रजत त्यागी के मुताबिक उनके पास पांच रुपये की दाल लेने के लिए भी ग्राहक आते हैं। बढ़ती महगाई के चलते अब पांच रुपये की दाल बेचना बंद कर दिया है। शहर के अच्छे फेमिली रेस्त्राओं में अरहर की दाल 25 रुपये प्लेट हैं। जनकारों के मुताबिक एक किलो अरहर की दाल में 100 ग्राम मूंग की दाल मिलाने पर उसका रेशा इतना गाढ़ा हो जता है कि उससे 35 से 40 प्लेट तैयार हो जाती हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ढाबों में अरहर में मिलाई जा रही मूंग की दाल