DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एडीएम ने तलब किया एमएमएच के प्रिंसिपल को

दलित छात्रा को एडमिशन न दिए जाने को लेकर एमएमएच कॉलेज प्रशासन जांच के दायरे में आ गया है। छात्रा ने कॉलेज वालें पर आरोप लगाए हैं कि उन्होंने एडमिशन फार्म से उसकी मार्कशीट गायब कर दी और उसकी जगह कम अंक वालों को प्रवेश दे दिया गया। शिकायत पर एडीएम प्रशासन ने एमएमएच के प्रंसिपल का जवाब तलब किया है।


एमएमएच कॉलेज प्रशासन पर आरोप लगाने वाली छात्रा पिंकी रानी सिंकदराबाद के मोहल्ला खत्रीवाडा निवासी जगदीश प्रसाद जाटव की बेटी है। छात्रा ने एडीएम प्रशासन को दिए शिकायती पत्र में कहा कि उसने बीए की परीक्षा 2009 में सिकंदराबाद से पास की है। एमए प्रथम वर्ष(आर्ट) में एडमिशन के लिए उसने एमएमएच कॉलेज में आवेदन किया था। पिंकी का कहना हे कि आवेदन फार्म के साथ उसने सभी जरूरी प्रमाणपत्र कॉलेज में जमा किए थे। इसकी रसीद भी उसके पास है। अनुसूचित जाति की होने के चलते उसे आरक्षित कोटे में प्रवेश दिया जाना चहिए था। उसके अंक 54 प्रतिशत थे, जबकि कॉलेज ने कोटे की लिस्ट पर 52 प्रतिशत की गई है।


इसके बाद भी उसे प्रवेश नहीं दिया गया। पिंकी के मुताबिक, उसने कॉलेज अधिकारियों से संपर्क किया तो कह दिया गया कि बीए प्रथम वर्ष की अंक तालिका गायब है। जबकि फार्म जमा करते समय सभी दस्तावेज दिए थे। कॉलेज प्रशासन ने कागजातों को चैक भी किया था। मार्कशीट गायब होना कॉलेज वालों की लापरवाही है और इसका दंड मुझे प्रवेश न देकर किया जा रहा है। पिंकी ने जिला प्रशासन से कॉलेज में प्रवेश दिलाने की गुहार लगाई है। एडीएम सिटी ने दलित छात्रा की शिकायत को गंभीरता से लेकर एमएमएच कॉलेज के प्रिंसिपल से रिपोर्ट तलब की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एडीएम ने तलब किया एमएमएच के प्रिंसिपल को