अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एथनॉल उत्पादन के नियम में बदलाव हो: नीतीश

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने केंद्रीय कृषिमंत्री शरद पवार को एक पत्र लिखकर बिहार की अर्थव्यवस्था के हितों को ध्यान में रखकर गन्ना रस से सीधे एथनॉल उत्पादन के लिए गन्ना नियंत्रण संशोधन आदेश 2007 में बदलाव का अनुरोध किया है।

उल्लेखनीय कि केंद्र सरकार के गन्ना नियंत्रण आदेश 1966 के तहत चीनी उत्पादन किए जने की शर्त के बिना गन्ना रस से सीधे एथनॉल उत्पादन का प्रावधान था। केन्द्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य और जनवितरण मंत्रालय द्वारा गन्ना नियंत्रण संशोधन आदेश 2007 लाकर उसके खंड तीन में व्याख्या तीन को शामिल किया गया था जिसके अनुसार गन्ने के रस से एथनॉल का सीधे तौर पर उत्पादन की अनुमति चीनी उत्पादन कारखानों को ही दी जा सकती है।

केंद्र सरकार द्वारा अपने उक्त आदेश को 28 दिसम्बर वर्ष 2007 से लागू कर दिए जाने के बाद बिहार सरकार की प्रदेश में गन्ना रस से सीधे तौर पर एथनॉल उत्पादन की कई परियोजनाओं में निवेश के प्रस्तावों को ग्रहण लग गया था जिसके बाद इसमें बदलाव लाने के लिए गत वर्ष आठ जून को भी नीतीश कुमार ने पवार को एक पत्र लिखा था।
   
नीतीश ने पवार को लिखे पत्र में कहा है कि बिहार सरकार ने मार्च 2007 में राज्य गन्ना विनियमन और वितरण अधिनियम 1981 में संशोधन करके गन्ना रस से सीधे तौर पर एथनाल के उत्पादन किए जने का प्रदेश में मार्ग प्रशस्त कर दिया था।
   
उन्होंने अपने पत्र में अप्रैल 2008 में केंद्र को भेजे गए उक्त संशोधन विधेयक पर राष्ट्रपति की स्वीकृति दिलाने में पवार से पहल करने का अनुरोध किया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एथनॉल उत्पादन के नियम में बदलाव हो: नीतीश